Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    केन्द्रीय योजना के अन्तर्गत किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) का गठन एवं प्रोत्साहन व केन्द्रीय योजना कृषि अधारभूत संरचना निधि (एग्रीकल्चर इंफ्रास्टेक्चर फण्ड-एआईएफ) कार्यान्वयन पर विचार विमर्श के लिए हुई बैठक


    केन्द्रीय योजना के अन्तर्गत किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) का गठन एवं प्रोत्साहन व केन्द्रीय योजना कृषि अधारभूत संरचना निधि (एग्रीकल्चर इंफ्रास्टेक्चर फण्ड-एआईएफ) कार्यान्वयन पर विचार विमर्श के लिए हुई बैठक

    शाहजहांपुर। जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह के निर्देशन में कलेक्ट्रेट सभागार में किसान उत्पादन संगठन (एफपीओ) पर जिला स्तरीय निगरानी समिति की बैठक अपर जिलाधिकारी राम सेवक द्विवेदी की अध्यक्षता में आहूत की गयी।

    डीडीएम नाबार्ड चिरंजीव सिंह ने समिति के सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए बैठक का एजेंड समिति के समक्ष प्रस्तुत किया। बैठक में केन्द्रीय योजना के अन्तर्गत किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) का गठन एवं प्रोत्साहन व केन्द्रीय योजना कृषि अधारभूत संरचना निधि (एग्रीकल्चर इंफ्रास्टेक्चर फण्ड-एआईएफ) कार्यान्वयन पर विचार विमर्श किया गया।

    डीडीएम नाबार्ड ने बताया कि जिले में दो एफपीओ बनाए जाने है जिसमें प्रत्येक एफपीओं में न्यूनतम 300 किसान सम्मलित रहेंगे। इस योजना के अन्तर्गत जिले में कृषकों के उत्पादों में मूल्य संवर्धन हेतु उत्पाद की पैकेजिंग, ग्रेडिंग,प्रसंस्करण तकनीकी वैज्ञानिकों द्वारा उपलब्ध करा कर बाजार में अधिक मूल्य प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने यह भी बताया कि एग्रीकल्चर इंफ्रास्टेक्चर फण्ड  के अन्तर्गत गोडाउन, वेयरहाउसेज, कोल्ड स्टोरेज आदि बनाने के लिए बैंका से ऋण लेने पर कृषकों को सरकार द्वारा 3 प्रतिषत व्याज अनुदान (सब्सिडी) उपलब्ध कराई जाएगी। जैविक खेती पर बढ़वा देने के लिए सरकार कृषको को बायो-उत्पादन यूनिट लगाने व जैविक कृषि निवेष आदि में पूर्ण सहयोग प्रदान करेगी। 

    इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी श्री राम सेवक द्विवेदी ने सरकार की इस योजना को जिले के कृषको के बीच ब्रहद प्रचार-प्रसार करने सुझाव दिया। कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञनिक डा0 सी0पी0 गुप्ता ने समिति के समक्ष मल्टी कोल्ड स्टोरेज बनाने की बात कही। जिला उद्यान अधिकारी डा0 राघवेन्द्र सिंह ने टमाटर और आलू पर एफपीओं बनाने का सुझाव दिया जिस पर सभी सदस्यों ने अपनी सहमति प्रकट की। अग्रणी जिला प्रबन्धक ने अवगत कराया कि इस योजना से किसानों को तैयार फसल के नुकसान में कमी आएगी व किसानों को अपनी फसल का अच्छा मूल्य मिल सकेगा व इस सम्बन्ध में सभी बैंकों से पूर्ण सहयोग मिलेगा।

    फ़ैयाज़ उद्दीन  शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.