Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    खून का बदला खून तो न्यायपालिका की क्या जरूरत : जितिन प्रसाद

    खून का बदला खून तो न्यायपालिका की क्या जरूरत : जितिन प्रसाद

    शाहजहाँपुर।
    कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने कानपुर एनकाउंटर पर सरकार पर को कटघरे में खड़ा कर दिया है। उन्होंने बताया कि अगर खून का बदला खून होने लगे तो भारत की न्यायपालिका के लोगों का भरोसा उठ जाएगा फिर उसकी क्या जरूरत रह जाएगी। कानपुर कांड में इस तरह के एनकाउंटर करना कई राज को दफन करने जैसा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने साधा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अपराधी विकास दुबे के एनकाउंटर पर कहा कि यह बदला है न्याय नहीं है।

    सरकार से बदले की नही न्याय की उम्मीद की जाती है। सरकार की कार्यशेली पर भी सबाल उठ रहे है और जनता सबाल पूछ रही है सरकार की कार्यशैली और अपराध की कार्यशैली में क्या फर्क रह गया है। अगर खून का बदला खून होगा तो न्याय पालिका की क्या जरूरत है। साथ ही उन्होंने कहा कि वह कौन लोग हैं जो इस कुख्यात अपराधी का एनकाउंटर चाहते थे। जिससे बड़े पदों पर बैठे बो लोग बच जाये और ऐसे अपराधियों को संरक्षण देते हैं जो जनता पर कहर बनकर टूटी। इस बात का सरकार को जवाब देना ही पड़ेगा।

    फ़ैयाज़ उद्दीन
    आईएनए न्यूज़, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.