Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जुड़वा बच्चों को जन्म देने वाली महिला की हुई मौत, एक नवजात बच्ची की भी हुई मौत

    जुड़वा बच्चों को जन्म देने वाली महिला की हुई मौत, एक नवजात बच्ची की भी हुई मौत

    बलिया।
    मामला उत्तर प्रदेश के बलिया जनपद के शहर कोतवाली के गड़वार रोड स्थित एक नर्सिंग होम का है जहां शनिवार शाम प्रसव होने के बाद जच्चा-बच्चा की मौत हो गई ।
    जबकि एक नवजात बच्चे को गम्भीर स्थिति होने पर जिला महिला चिकित्सालय के बच्चा वार्ड में भर्ती किया गया है। वहीं जच्चा-बच्चा के मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में तोड़फोड़ की।

    तोड़ फोड़ करने वाले पीड़ित परिजनों को धमकाकर मामले रफा दफा करा दिया गया । ऐसे स्थानिय लोगों का कहना है कि बार बार जनपद  में ऐसे  नर्सिंग होमो में मौत के मामले अक्सर सुनने को आते हैं जिससे मालूम हो रहा है कि अवैध रूप से बैगैर मानक के अनुसार नर्सिंग होम संचालित है ।अगर समय रहते प्रशासन ने संज्ञान नहीं लिया तो ऐसे ही मौत के आंकड़े बढ़ते रहेंगे । और इस ताजि घटना ने यह कर दिया कि  जनपद अवैध नर्सिंग होमो द्वारा   रैकेट संचालित है।


    महिला को जुड़वा बच्चे पैदा हुए...


    जानकारी के अनुसार, गड़वार थाना क्षेत्र के सिहाचवर खुर्द ग्राम के सुनील चौहान की पत्नी अंजू चौहान 20 वर्ष को प्रसव पीड़ा होने पर परिजनों ने बलिया शहर कोतवाली क्षेत्र में गड़वार रोड स्थित एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया। महिला की नार्मल डिलीवरी हुई, जिसमें महिला को जुड़वा बच्चे पैदा हुए। नार्मल डिलीवरी होने के कुछ देर बाद अंजू की मृत्यु हो गई। अंजू की मृत्यु के कुछ देर बाद नवजात बच्ची की भी मौत हो गई।

    इसके बाद दूसरे बच्चे की भी स्थिति गम्भीर हो गई। शिशु की स्थिति गंभीर देख परिजनों ने उसे जिला महिला चिकित्सालय के बच्चा वार्ड में भर्ती कराया।
    जच्चा बच्चा की मौत के बाद परिजन आक्रोशित हो गये। आक्रोशित परिजनों ने निजी नर्सिंग होम में गुस्से में तोड़फोड़ शुरू कर दिया। तोड़फोड़ की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने आक्रोशित परिजनों को समझा-बुझाकर शांत कराया। इस मामले में फिलहाल मुकदमा दर्ज नही हुआ है। पुलिस ने बताया कि परिजनों की तरफ से कोई शिकायत प्राप्त नही हुआ है।
    पहले भी हो चुकी है महिला की मौत इसके पूर्व जिले के सिकंदरपुर कस्बे में स्थित एक प्राइवेट नर्सिंग होम में भी पिछले दिनों एक प्रसवोत्तर महिला की मौत हो गई थी। मौत के बाद ग्रामीणों ने सिकन्दरपुर-बेल्थरा रोड मुख्य मार्ग पर शव को रखकर काफी देर तक प्रदर्शन किया था, जिससे अफरातफरी का माहौल हो गया था। सिकंदरपुर कस्बे में बेल्थरारोड रोड मार्ग पर  मैटरनिटी अस्पताल के नाम से डॉ   अपना नर्सिंग होम चलाती हैं, जो प्रतिदिन सुबह रतसर में भी बैठ कर मरीजों को देखती हैं। गड़वार थाना क्षेत्र के अभयपुर पकड़ी निवासी संगीता यादव उम्र 23 वर्ष पत्नी सोनू यादव को भर्ती कराया गया था।
    उसका ऑपरेशन कर प्रसव कराया गया, तत्पश्चात हालत खराब होने पर संगीता को लेकर डॉक्टर  ने उसे अपने सिकंदरपुर स्थित नर्सिंग होम पर भर्ती कर दिया। हालत गंभीर होने पर डॉक्टर ने जच्चे बच्चे को रेफर कर दिया था। जब परिजन जच्चे व बच्चे को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे तो चिकित्सक ने महिला की मौत होने की पुष्टि कर दी थी। सिकंदरपुर स्थित इस नर्सिंग होम में पहले भी एक महिला सहित कई बच्चो की मौत हो चुकी है। उस समय भी परिजनों द्वारा कारवाई की मांग की गई थी। एसडीएम के आदेश के बाद भी कोई कार्रवाई नही हुई तथा प्रकरण की लीपापोती कर दी गई।

    आसिफ़ ज़ैदी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.