Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    हर साल करोड़ों-करोड़ों वृक्षारोपण का लक्ष्य होता है पूर्ण , किंतु धरातल पर वृक्ष दिखाई पड़ते हैं कम, इस वर्ष भी अयोध्या सहित पूरे प्रदेश में पौधारोपण का लक्ष्य पूर्ण

    हर साल करोड़ों-करोड़ों वृक्षारोपण का लक्ष्य होता है पूर्ण , किंतु धरातल पर वृक्ष दिखाई पड़ते हैं कम,
     इस वर्ष भी अयोध्या सहित पूरे प्रदेश में  पौधारोपण का लक्ष्य पूर्ण 

    अयोध्या ।
    ग्रीष्म ऋतु समाप्त होने के बाद, वर्षा ऋतु शुरू होते ही, जुलाई माह में सरकार की योजनाओं के तहत बड़ी संख्या में वृक्षारोपण का लक्ष्य निर्धारित किया जाता है  । और वह लक्ष्य बड़ी ही आसानी से हासिल भी कर लिया जाता है। नेता, अधिकारी, किसान, मजदूर, सभी लोग वृक्षारोपण करते फोटो खींचा कर वायरल करते हैं। कहीं पर विधायक वृक्षारोपण कर रहे हैं, तो कहीं पर सांसद वृक्षारोपण कर रहे हैं, कहीं मुख्यमंत्री वृक्षारोपण कर रहे हैं, तो कहीं स्थानीय मंत्री वृक्षारोपण कर रहे हैं ,कहीं पर कमिश्नर वृक्षारोपण कर रहे हैं, तो कहीं पर जिला अधिकारी वृक्षारोपण कर रहे हैं, ऐसे में बड़ी संख्या में वृक्षारोपण होता है।

    किंतु यदि हम 10 साल का मात्र  लगाए गए वृक्षों की संख्या का आकलन करें तो एक साल के लगाए गए वृक्षों की संख्या के बराबर भी वृक्ष दिखाई नहीं पड़ते हैं। आखिर इसका क्या कारण है? आंकड़े गलत है, सूख गए हैं, जलमग्न हो गए हैं, अथवा लगाई कम गए हैं, यह एक बड़ा सवाल उठता है? इतनी नहीं खाली पड़ी है जमीन  जितनी एरिया में वृक्षारोपण दिखाया जाता है । वृक्षारोपण इतना ज्यादा किया जा सके। जैसा कि एक किसान के पास यदि 100 बीघा जमीन थी, और उसके चार पुत्र हुए, तो चारों का हिस्सा 25-25 बीघा हुआ । और यदि 4 पुत्र हुए तो हिस्सा सवा छह बीघा करीब आता है। और उनके भी दो-दो बच्चे हो गए। तो तीन तीन बीघा जमीन हिस्सा पड़ता है। ऐसे में किसान उसमें खेती करेगा अपना जीविकोपार्जन  करेगा या हर साल उसी में  आंकड़ा देकर वृक्षारोपण करता रहेगा। यह बड़ा सवाल है ।

    वृक्षारोपण  मिशन 2020  के अंतर्गत 5 जुलाई को पूरे उत्तर प्रदेश में 25 करोड़ पौधारोपण का लक्ष्य पूर्ण करने पर प्रदेश में खुशी का माहौल व्याप्त है. शासन की मन्शानुसार जनपद अयोध्या में  टी0वेंकटेश, अपर मुख्य सचिव, सिंचाई, जल संसाधन एवं परती भूमि विकास, उ0प्र0शासन / नोडल अधिकारी, अयोध्या द्वारा जनपद में वृहद वृक्षारोपण महा अभियान कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न स्थलों का निरीक्षण एवं पौधरोपण किया गया। निरीक्षण के दौरान मौके पर जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, प्रभागीय वनाधिकारी, नगर आयुक्त, अयोध्या सहित अन्य संबंधित अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

    वृक्षारोपण कार्यक्रम के दौरान विभिन्न स्थलीय निरीक्षण में वन विभाग द्वारा क्षेत्रीय ग्राम्य विकास संस्थान, डाभासेमर, विकासखण्ड- मसौधा में 07 हेक्टेयर जमीन में 11000 पौधों के रोपण कार्यक्रम में स्वयं पौधों का रोपण किया गया। ग्राम्य विकास संस्थान में वन विभाग द्वारा पौधरोपण के माध्यम से पंचवटी बाग विकसित किया जा रहा है, जिसमें बरगद, आंवला, आम जैसे फलदार व छायादार वृक्ष हैं। इसके पश्चात् ग्राम पंचायत- मऊयदुवंशपुर में  05 हेक्टेयर जमीन पर 3125 पौधों के रोपण का निरीक्षण किया गया तथा स्वयं भी पौधरोपण किया गया। तत्पश्चात्  अयोध्या रोड के किनारे  वृक्षारोपण कार्यक्रम में भी पौधों का रोपण किया गया। तदुपरान्त अयोध्या में राम की पैड़ी चैनल की रिमॉडलिंग की परियोजना, जिसकी लागत 28 करोड़ रू0 है, का निरीक्षण किया गया। इसके पश्चात् राम की पैड़ी की रिमॉडलिंग की पुनरीक्षित परियोजना, जिसकी लम्बाई 262 मी0 है, का भी निरीक्षण किया गया, जिसकी लागत 24 करोड़ रू० है, का निरीक्षण किया गया । वहीं पर स्केप चैनल, जिसकी लम्बाई 243 मी0 है, का निरीक्षण किया गया। मौके पर पाया गया कि राम की पैड़ी मुख्य चैनल की भॉति घाटों के निर्माण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। लक्ष्मण किला घाट के विकास एवं निर्माण की परियोजना, जिसकी लम्बाई 180 मीटर है, का निरीक्षण किया गया।  जिसकी लागत 9.73 करोड़ रू0 है।  इसके पश्चात् विकासखण्ड-सोहावल अन्तर्गत सिंचाई विभाग के रौनाही स्थित चौधरी चरण सिंह पम्प हाउस जहाँ, 465 पौधे रोपित किये गये हैं, का निरीक्षण करते हुए नोडल अधिकारी महोदय द्वारा स्वयं भी पौधों का रोपण किया गया।
            इस प्रकार वृक्षारोपण महा अभियान के अन्तर्गत जनपद अयोध्या में 3470716 पौधों के रोपण कार्यक्रम का विभिन्न स्थलों पर जाकर निरीक्षण किया गया और स्वयं भी पौधरोपण किया गया ।
      जनपद में विभिन्न जन प्रतिनिधियों/ जन समुदायों और स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा बढ़ चढ़कर पौधों का रोपण किया
    जा रहा है। निरीक्षण के दौरान अपर मुख्य सचिव/नोडल अधिकारी महोदय द्वारा यह भी कहा गया पौधों को रोपित करने के पश्चात् उनकी सुरक्षा का भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।
    जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने वृहद स्तर पर कराए गए वृक्षारोपण कार्यक्रम में सहभागी बने जनपद के सभी नागरिकों, व्यापारियों ,शिक्षकों,पत्रकारों, जनप्रतिनिधियों, सहित जिला प्रशासन के सभी वरिष्ठ अधिकारियों, कर्मचारियों ,पुलिस विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों तथा सभी विभागों के नोडल अधिकारियों ,सेक्टर व जोनल बनाए गए अधिकारियों वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों को धन्यवाद देते हुए, सभी के प्रति आभार प्रकट किया है  जिला मजिस्ट्रेट ने बताया की वन महोत्सव जन सामान्य वह जनहित के लिए है। इस प्रकार लगाए गए वृक्षों कि यदि सही तरह से देख रेख हो जाए धरातल पर वृक्ष मौजूद रहे जाए तो एक सराहनीय कदम है  और धारा स्वर्ग बन जाए और धरा स्वर्ग बन जाए।

    देव बक्श वर्मा
    आई एन ए न्यूज़ अयोध्या - उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.