Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर- बिकरू गांव में हिस्ट्रीशीटर और उसके साथियों ने किया मौत का तांडव, सीओ सहित आठ पुलिस वालों की मौत

    कानपुर- बिकरू गांव में हिस्ट्रीशीटर और उसके साथियों ने किया मौत का तांडव, सीओ सहित आठ पुलिस वालों की मौत

    कानपुर.
    कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में हिस्ट्रीशीटर और उसके साथियों ने मौत का तांडव किया। रात में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए दबिश देने गयी पुलिस पर जमकर फायरिंग की गयी। जिसमें सीओ बिल्हौर सहित आठ पुलिस वालों की मौत हो गयी। छतों से तड़ातड़ चल रही गोलियों से पुलिस वालों के सीने छलनी हो गये। हमले में छह पुलिसकर्मी गम्भीर रुप से घायल हुए हैं।

    जिन्हें इलाज के लिए रीजेन्सी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं पुलिसकर्मियों की हत्या की वारदात से पूरे सूबे में हडकम्प मच गया है। आनन फानन में एडीजी जोन,आईजी रेंज सहित कई जिलों का फोर्स मौके पर पहुंचा। जब तक पुलिस की मदद पहुंची हत्यारे पुलिस के हथियार लूट कर फरार हो चुके थे। पुलिस गांव में कांबिंग कर रही है वहीं जिले की सीमाएं सील कर दी गयी हैं। आपको बता दें कि क्षेत्र में रहने वाले एक युवक ने विकास दुबे पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कराया था।

    इसी सिलसिले में पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश देने गांव पहुंची थी। रात तकरीबन एक बजे जैसे ही पुलिस मौके पर पहुंची विकास और उसके साथियों ने पुलिस पर छतो से फायरिंग कर दी। पुलिस हमले के लिए तैयार नही थी। जिसके चलते पुलिसकर्मी गम्भीर रूप से घायल हुए जिसमें सीओ बिल्हौर सहिता आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गयी।


    मुख्य बिन्दुओं पर एक नजर.....

    500 से अधिक लोगो के मोबाइल सर्विलांस पर..


     कानपुर मण्डल की सभी सीमाए सील..

     Stf ने संभाला है मोर्चा..

     काशी राम निवादा गाँव मे 3 लोगों को पुलिस ने मार गिराया..

     कानपुर मण्डल की सभी सीमाए सील..

    मौके से AK47 के खोखे मिले हैं। छत से बचने के चक्कर में विकास दूबे के घर से कूदे थे CO देवेंद्र मिश्रा।।
    यूपी डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी का बयान

    हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया गया था, पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई थी- हितेश चंद्र

    जेसीबी को वहां लगा दिया गया जिससे हमारे वाहन बाधित हो गए।  फोर्स के उतरने पर अपराधियों ने गोलियां चलाईं- हितेश चंद्र

     जवाबी फायरिंग हुई लेकिन अपराधी ऊंचाई पर थे, इसलिए हमारे 8 लोगों की मौत हो गई- हितेश चंद्र

    हमारे लगभग 7 आदमी घायल हो गए।  ऑपरेशन अभी भी जारी है क्योंकि अंधेरे का फायदा उठाकर अपराधी भागने में सफल रहे- हितेश चंद्र

     आईजी, एडीजी, एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) को ऑपरेशन की निगरानी के लिए वहां भेजा गया है- हितेश चंद्र

    कानपुर से फॉरेंसिक टीम मौके पर थी, लखनऊ से एक विशेषज्ञ टीम भी भेजी जा रही थी- हितेश चंद्र

    एसटीएफ को तैनात किया गया है।  आईजी- एसटीएफ मौके पर पहुंच रहे हैं- हितेश चंद्र

    कानपुर एसटीएफ पहले से ही काम पर है। बड़े पैमाने पर अस्पष्टता बरती जा रही है- हितेश चंद्र

    यह उस ऑपरेशन के सिलसिले में जारी है जिसके लिए टीम पहले स्थान पर गई थी- हितेश चंद्र

    इब्ने हसन जैदी
    आई एन ए न्यूज़ कानपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.