Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सक्षम अभिभावकों को फीस दे देनी चाहिए? पत्रकार अनिल मिश्रा


    सक्षम अभिभावकों को फीस दे देनी चाहिए? पत्रकार अनिल मिश्रा


    --अगर आप सक्षम है तो फीस अवश्य जमा करे, अन्यथा फीस माफी की लड़ाई के साथ शिक्षकों के वेतन की भी लड़ाई लड़े

    शाहजहांपुर।  बेचारे शिक्षक! फीस न जमा होने के कारण नही मिल पा रहा वेतन? कान्वेंट स्कूलों में पढ़ाने बाले हजारों शिक्षकों का वेतन रुका हुआ है जो सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक कान्वेंट स्कूलों में बंधुआ मजदूर की तरह जुटे रहते है उन्हें कागजों में 25 से 40 हजार वेतन दिया जाता है लेकिन असलियत में उनके हाथ 5 हजार से 10 हजार तक ही पहुंच पाता है? जिससे वह पूरे माह अपने परिवार का पालन पोषण करते है। इसके साथ ही उन्हें जून माह के वेतन से महरूम रखा जाता है। लेकिन बच्चें की फीस जून माह की भी जमा कराई जाती है। अहम बात यह है बेचारे शिक्षकों को भी पिछले 4 माह से वेतन नही मिला है। 

    उनके परिवार का भरण पोषण कैसे हो रहा होगा?उनकी गिनती न गरीबों में है न अमीरों में है उनकी मदद को कोई आगे नही आ रहा है। मैनेजर भी कम नही है? वह प्रतिदिन शिक्षकों को स्कूल भी बुलाते है लेकिन वेतन देने के नाम पर फीस का रोना रो देते है इसलिए या फीस जमा करे या फिर फीस माफी के साथ साथ शिक्षकों के वेतन की लड़ाई भी लड़े??

    फ़ैयाज़ उद्दीन
    शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.