Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    दारुल उलूम देवबंद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजा ज्ञापन, ईद उल अजहा और कुर्बानी के लिए स्पष्ट आदेश जारी करने की मांग

    दारुल उलूम देवबंद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजा ज्ञापन, ईद उल अजहा और कुर्बानी के लिए स्पष्ट आदेश जारी करने की मांग

    देवबंद.
    विश्व विख्यात इस्लामिक शिक्षण संस्था और देवबंदी विचारधारा के मुख्य केंद्र दारुल उलूम देवबंद ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पांच सूत्री ज्ञापन भेजा है। ज्ञापन में मुसलमानों के बड़े त्यौहार ईद उल-अजहा पर ईदगाह में नमाज अदा करने की अनुमति देने व कुर्बानी के लिए मवेशी की खरीद फरोख्त हेतु स्पष्ट आदेश जारी करने की मांग की है , दारुल उलूम के कार्यवाहक मोहतमिम मौलाना अब्दुल खालिक मद्रासी ने एसडीएम देवबंद राकेश कुमार सिंह के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पांच सूत्री ज्ञापन भेजा है। ज्ञापन में कहा गया है कि ईद उल अजहा का त्यौहार नजदीक है,  इस्लाम धर्म में कुर्बानी बहुत बड़ी इबादत है और इसका कोई दूसरा विकल्प भी नहीं है ।

    वही देश में कोरोना संक्रमण की वजह से विभिन्न प्रतिबंध लागू हैं इसलिए त्यौहार की तैयारियों में मुसलमानों को बाधाएं आ रही हैं और अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है। ज्ञापन में मांग की गई है कि ईद उल अजहा के मद्देनजर तिथि व दिनों के अनुसार शनिवार और रविवार का लॉकडाउन स्थगित किया जाए जिससे त्यौहार प्रभावित न हो। ईद उल अजहा की नमाज सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ईदगाह में अदा करने की अनुपति दी जाए , अनलॉक के बावजूद बहोत से स्थानों पर मवैशी पैठ लगाने की स्थानीय प्रशासन अनुमति नहीं दे रहा है और कुर्बानी के लिए मवेशी लाने ले जाने पर उत्पीडऩ किया जा रहा है, इस सम्बंध में अनुमति के स्पष्ट आदेश जारी किए जाए। बाजार, मॉल, फैक्ट्रीज व अन्य संस्थानों की तर्ज पर सोशल डिस्टेंसिंग की शर्त के साथ बिना संख्या निर्धारण मस्जिदों में पांच टाइम की नमाज अदा किए जाने की भी मांग की गई है।

    वही ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि सरकार के इस कदम से देश व दुनिया में अच्छा संदेश जाएगा और राज्य का नाम रोशन होगा। बता दें कि ईद उल अजहा का त्यौहार तीन दिनों तक मनाया जाता है। इस वर्ष चांद के अनुसार 31 जुलाई या 1 अगस्त से यह त्यौहार मनाया जाएगा। उधर, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना व संचारी रोगों की रोकथाम हेतु वीकेंड लॉकडाउन घोषित किया गया है ऐसे में लॉकडाउन के चलते मुसलमानों को कुर्बानी का अजीम त्यौहार मनाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा, जिसके चलते मुसलमानों में बेचैनी का माहौल है। इसी को ध्यान में रखते हुए दारुल उलूम देवबंद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन भेजकर त्यौहार के सम्बंध में स्पष्ट आदेश जारी करने की मांग की है।

    शिबली इकबाल

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.