Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मानसून आने से पहले स्वच्छ पलवल के दावों की पोल खोल रहा बड़ा मोहल्ला

    मानसून आने से पहले स्वच्छ पलवल के दावों की पोल खोल रहा बड़ा मोहल्ला 
    महीनो से गंदा सीवर का पानी गलियों में है भरा मलेरिया जैसी बीमारी फैलने का है डर
    गंदे पानी में से मोह्हला वासी कर रहे है आवाजाही नरकिय जीवन जी रहे हैं यहां के लोग
    पलवल.
    पलवल के बड़ा मौहल्ले में पिछले कई महीने सीवरेज ओवरफ्लो होने के कारण सीवरेज का गंदा पानी सड़को पर जमा हो गया है। जिसके चलते पिछले लोगो का घरो से निकलना भी दूभर हो गया है। लोगो का कहना है कि वो इस बारे में कई बार नगर परिषद के आला अधिकारियों से लेकर सीएम विंडो पर शिकायत कर चुके है। लेकिन उसके बावजूद आज तक उनकी समस्या का समाधान नही हुआ।

    दिखाई दे रहा यह नज़ारा उस पलवल का है जिसकी सफाई व्यवस्था को लेकर बड़े बजट के खर्चे के साथ साथ बड़े बड़े दावे शहर की स्वछ्ता को लेकर किये जाते है उन दावों की हकीकत को देखकर आप चौंक उठेंगे .जी हां यह नज़ारा पलवल शहर के बड़े मोह्हले का है।जंहा पर गलियों में महीनों से भरा सीवर का गन्दा पानी लोगों के लिए समस्या बना हुआ है हैरानी की बात तो यह है कि इस मोह्हले की दुरी नगर परिषद् के दफ्तर से मात्र आधा किलोमीटर भी नहीं है बावजूद इसके इस समस्या का समाधान न होना नगर परिषद् की कार्यप्रणाली पर बड़ा सवाल खड़ा करता है। देखने वाली बात तो यह भी है कि यह मोह्हला उन कोरोना योद्धाओ का है जो पुरे शहर की सफाई व्यवस्था को सँभालने में अपना अहम् रोल अदा करते है। ऐसे कोरोना योद्धाओ का सम्मान देश के प्रधान मंत्री ने भी कोरोना जंग के दौरान किया है। फिर पलवल में इन्हें इस नारकीय जीवन जीने के लिए मजबूर करना कहा तक न्याय संगत है। आखिर इनकी सुनवाई क्यों नहीं हो रही। मोह्हला वासियो की माने तो यह लोग अपनी गुहार लेकर जब नगर परिषद् गये तो उन्हें। पी डब्लयू डी जाने के लिए कह कर भेज दिया गया यही नहीं जब पी डब्लयू डी पहुंचे तो वंहा कोई सुनवाई नहीं हुई परेशान लोग जब पलवल विधान सभा से चुने गए बीजेपी विधायक दीपक मंगला के पास गये तो वंहा भी इनकी सुनवाई नहीं हो पाई।

    जिसके बाद सीएम विंडो पर इस समस्या को सुलझाने और नारकीय जीवन से छुटकारा दिलवाने की मांग की गई पीड़ितों का कहना है सीएम विंडो पर पिछले करीब आठ महीनो में तीन बार शिकायते लगाई गई जिसके बाद एक बार नालिया साफ़ कर तो दूसरी बार मोह्हले के बाहर एक नया सीवर बनाकर ओपचारिकता पूरी कर दी। हालाँकि नए सीवर के बनने के बाद भी मोह्हले की गलियों में आज भी गंदा पानी भरा हुआ है।उन्होंने बताया कि उन्होंने मोह्हले के सीवर की सफाई मशीन से करवाने की गुहार लगाई तो उन्हें मशीन खराब है कह कर टाल दिया गया जबकि मशीन दूसरी जगहों पर बखूबी अपना काम कर रही है। मजबूरन वह खुद सीवर के गड्डे में उतर कर सफाई कर रहे है फिर भी समस्या का कोई हल नहीं निकला।  इस गंदे पानी के चलते बड़े मोहल्ले में मच्छरों की भरमार है और यहाँ के लोग आए दिन किसी ना किसी बीमारी की चपेट में आ रहा है। यहाँ के लोगो का कहना है कि सड़कों पर जमा हुए सीवरेज के गंदे पानी के चलते उनका घरो से बाहर निकलना तो दूर घरो में रहना भी दूभर हो चुका है।  लोगो का  कहना  है की जब अभी बिना बरसात के ये हाल है तो बरसात के मौसम में क्या  होगा ! बाहर  से आवाजाही बंद होने पर वो  लोग  अपना काम किस तरह से करेंगे !  इस गंदे पानी में से निकलने से कभी कभी तो वो लोग घायल भी हो जाते है  और काफी चोट भी लग जाती है ! यहाँ के लोगो की प्रशासन यही गुहार है की उनकी अनदेखी न की जाये और इस परेशानी से हमेशा के लिए  उनको छुटकारा  दिलवाया जाये !   लेकिन उसके बावजूद आज तक उनकी समस्या का समाधान नही हुआ। जिसके बाद अब उन्होंने मन बना लिया है कि अगर उनकी जल्द समस्या का समाधान नही हुआ। तो वो रोड जाम करके रोड पर लेट जाएंगे। जिसके जिम्मेदार आला अधिकारी होंगे। क्योंकि गरीब लोगों की कोई नही सुनता। दबंग लोगो की सभी सुन लेते है।
    पलवल नगर परिषद पार्षद पवन भडाना ने बताया जो सफाई कर्मचारी पहले ठेकेदारी प्रथा पर चल रहे थे उनको पालिका के पैरोल पर लिया गया है ताकि मानसून से पहले शहर की सफाई व्यवस्था में बदलाव हो सके जिसके चलते स्थानीय विधायक ने भी नेशनल हाईवे के कर्मचारियों के साथ मानसून आने से पहले नेशनल हाईवे पर सफाई व्यवस्था का जायजा लिया है।


    ऋषि भारद्वाज
    आईएनए न्यूज़, पलवल

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.