Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    एसएसपी आफिस में एक लाचार बहन का दिखा बेबस नजारा


    एसएसपी आफिस में एक लाचार बहन का दिखा बेबस नजारा


    अपहरण हुए भाई के लिए जमीन पर बैठकर बहाती रही आंसू

    30 लाख की फिरौती देने के बाद भी नही मिला भाई

    कानपुर।  कानपुर में आज एसएसपी आफिस में पुलिस की लापरवाही और बेरुखी का बेशर्म नजारा दिखाई दिया।  एक लाचार बहन अपने अपहरण हुए भाई के लिए के लिए  रो रो कर पुलिस को कोसती रही। इस बहन का भाई 22 दिन पहले रास्ते से अपहरण हो गया था। पुलिस ने घरवालों से मकान बिकवाकर खुद अपरहरण करने वालो को 30 लाख रुपया भी दिलवा दिया।  लेकिन न भाई को बरामद  कर सकी न कोई अपराधी  पकड़ पाई ।

    आंसू बहाते हुए चीख-चीखकर पुलिस पर दगाबाजी का आरोप लगाती बहन रूचि। ये नजारा है कानपुर एसएसपी आफिस का।  रूचि अपनी माँ अपर्णा के साथ  पुलिस से इंसाफ मांग रही है। रूचि का भाई संजीत यादव का 22 तारीख को अपहरण हो गया है। बर्रा का रहने वाला संजीत पैथोलॉजी कर्मचारी था। वह रात को घर आते समय रास्ते से गायब हो गया था।  इसके बाद अपहरणकर्ताओ ने घरवालों को फोन करके तीस लाख फिरौती मांगी ,घरवालों ने पुलिस से शिकायत की थी। बहन का आरोप है की  पुलिस ने संजीत की गुमशुदी लिखकर घरवालों को समझाया कि तुम पैसे की  व्यवस्था करो। हम पैसे देते समय अपराधी को पकड़ लेंगे। घरवालों ने मकान और बहन का शादी वाला जेवर बेचकर सोमवार की रात को पुलिस ने घरवालों से तीस लाख रुपया भी दिलवा दिया।  रुपया देते समय आसपास थानेदार और पुलिस मौजूद थी। लेकिन न अपराधी पकडे गए और न पैसा रोक पाए। अब घरवाले एसएसपी की चौखट पर न्याय की उम्मीद ढूंढ रहे है ।

    संजीत का अपहरण करने वालो ने घरवालों को लगभग पंद्रह फोन किये पुलिस फोन को सर्विलांस पर लगाए थी। इसके बावजूद पुलिस आजतक कुछ नहीं कर पाई सोमवार को तो चार थानों की  फ़ोर्स लेकर लगी रही   और घरवालों से अपराधी बैग लेकर  चले गए   इसके पहले एक बार पुलिस ने घरवालों से पथ्थरो से भरा बैग फिकवाया था तो अपहरण कर्ता   गए थे और तुरंत धमकी दी कि तेरे बेटे को मार डालेंगे।  एक और हैरानी वाली बात है कि घरवालों के पास  एक ही  फोन नंबर 8090055614 से  फिरौती मंगाते रहे। फिर भी पुलिस कुछ नहीं कर पाई अब जब  पैसा भी चला गया तो अधिकारी कार्यवाही की बात कह रहे है।

    इस मुद्दे पर हमने एसएसपी व अन्य अधिकारियों से उनका पक्ष जानने की कोशिश लेकिन  कोई सामने नहीं आया है।

    खबर लिखे जाने तक बहन और परिजन एसएसपी आफिस में बैठे थे।

    कानपुर में आज एसएसपी आफिस में जमीन पर बैठ कर अपने अपहरण हुए भाई के लिए न्याय मांग रही बहन के आरोपों पर कानपुर की एसपी साऊथ अपर्णा गुप्ता ने सफाई दी है। बहन  ने  आरोप लगाया था कि 22 दिन पहले अपहरण हुए मेरे भाई के लिए पुलिस ने 30 लाख की फिरौती भी दिलवा दी।जबकि मेरा भाई नहीं मिला। न पुलिस ने अपराधी ही  पकडे  जबकि एसपी अपर्णा हम लोगो से कहती थी छोटी छोटी बातो को हमसे न बताया करो।  इस आरोपों पर एसपी अपर्णा गुप्ता का कहना है कि एक व्यक्ति 22 तारीख को गायब हो गया। जिसके लिए फिरौती मांगी गई थी। ये गलत बात है कि पुलिस के सामने पैसा दिया गया था। हम जल्दी ही मामले को खोलेंगे।  दूसरी बात मैंने कभी उनसे गलत बात नहीं की। उनकी इस समय मनो दशा ठीक नहीं है मेरी सहानुभित उनके साथ है । अब देखना यह है कि पुलिस इस मामले में क्या करती है।

    आईएनए न्यूज़ डेस्क
           कन्नौज

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.