Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    ईद-उल-अजहा की कुर्बानी सार्वजनिक स्थानों पर ना कर अपने घरों पर ही करें- मुफ्ती आफताब आलम नदवी


    ईद-उल-अजहा की कुर्बानी सार्वजनिक स्थानों पर ना कर अपने घरों पर ही करें- मुफ्ती आफताब आलम नदवी


    सीतापुर।  सभी मुसलमान भाई शनिवार से शुरू होने वाले तीन दिवसीय ईदुल-अजहा ( बकरीद)  का त्यौहार शांति पूर्वक अपने -अपने घरों पर ही रह कर मनाएं, केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार से जारी की गई गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन करें तथा कोरोना प्रोटोकॉल नियमों के अन्तर्गत रहते हुए जानवरों की कुर्बानी करें इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि कुर्बानी सार्वजनिक स्थानों पर कदापि ना करें, घरों पर कुर्बानी करते समय भी मास्क एवं सैनिटाइजर का प्रयोग अवश्य करें | 

    यह अपील दारूल उलूम नदवातुल लखनऊ के विद्धान शिक्षक मौलाना, कारी, मुफ्ती आफताब आलम नदवी खैराबादी ने सीतापुर जनपद के मुसलमानों से करते हुए अपना एक वीडियो संदेश जारी किया है | मुफ्ती आफताब आलम नदवी खैराबादी ने कहा है कि जिस तरह से आप सभी लोगों ने ईद सादगी पूर्वक मनाई थी, ठीक उसी प्रकार इस वर्ष बकरीद भी शांति पूर्ण ढंग से सादगी के साथ मनाना है | 

    इस समय वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बना हुआ है तथा पूरे भारत में रोजाना हजारों की संख्या में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं, अतः सबसे पहले अपने बेशकीमती जीवन की रक्षा करना हम सभी का फर्ज बनता है | क्योंकि जब हम सुरक्षित रहेंगे तभी हमारा परिवार, समाज और सबसे बढ़कर हमारा देश सुरक्षित रहेगा | मुफ्ती आफताब आलम नदवी खैराबादी ने अपील की है कि बकरीद की नमाज पढ़ने ईदगाह कदापि ना जाएं, बल्कि अपने-अपने घरों पर ही नमाज अता करें, पड़ोस की भी मस्जिदो में मात्र पांच लोग ही नमाज पढ़ने के लिए जाएं | 

    उन्होंने कहा कि इस साल तीन दिवसीय ईदुल-अजहा में शनिवार व रविवार को कुर्बानी कर लें, चूंकि सोमवार को हिन्दू भाइयों का प्रमुख त्यौहार रक्षाबंधन है तो इस बात का विशेष ध्यान रखें की कुर्बानी के गोस्त को बाहर लेते जाते समय अच्छी तरह से ढक लें एवं मुंह पर मास्क लगाकर ही बाहर निकले | साथ ही यह ध्यान रहे कि हमारी कुर्बानी से हिन्दू भाइयों की भावनाओं को ठेस ना पहुंचे |

        शरद कपूर
          सीतापुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.