Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    5 अगस्त में अयोध्या का नया इतिहास रचेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    5 अगस्त में अयोध्या का नया इतिहास रचेंगे  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

     सुरक्षा के होंगे कड़े बंदोबस्त, साउंड सिस्टम से प्रसारित होगा कार्यक्रम

    अयोध्या।
    मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की पावन नगरी अयोध्या का नक्शा बदलने वाला है । नाम के अनुरूप अयोध्या का विकास  होने वाली है । राम मंदिर को लेकर अयोध्या को विश्व पटल पर स्थापित करने की कयादत शुरू हो गई है। आने वाले दिनों में अयोध्या नए रूप में दिखाई पड़ेगी। जिसके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी  का प्रयास रंग ला रहा है। 5 अगस्त का कार्यक्रम ऐतिहासिक होगा। किंतु कोरोना के कारण भीड़ नहीं जुट पाएगी। मात्र 200 लोगों के प्रवेश की अनुमति होगी। पूरी अयोध्या सुरक्षा के घेरे में रहेगी। आतंकी घटना के मद्देनजर कड़ा पहरा रहेगा। प्रदेश के आला अधिकारी आकर सुरक्षा और व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं। मुख्यमंत्री उपमुख्यमंत्री सहित कई मंत्री आकर व्यवस्था को देख रहे हैं। व्यवस्था में किसी तरह की कमी ना रहे इसके लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। और अयोध्या जगमग जगमग करती रहेगी।

     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 500 वर्षों बाद 5 अगस्त को अयोध्या में नया इतिहास लिखेंगे। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके भरोसेमंद साथी गृहमंत्री अमित शाह भी होंगे। इसके अलावा राम जन्मभूमि आंदोलन में भूमिका निभाने वाले भाजपा के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, राजनाथ सिंह, उमा भारती, साध्वी ऋतंभरा, संघ प्रमुख मोहन भागवत सहित 200  लोगो के मौजूद रहने के आसार प्रबल हैं ।

         5 अगस्त को भूमि पूजन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान श्रीराम के प्रमुख स्थलों व रामजन्मभूमि परिसर से प्राप्त अवशेषों प्रदर्शनी को भी देखेंगे।, जिसके लिए रामायण प्रसंग के विदेशों के मुखौटे, जन्म भूमि की खुदाई में मिले पुरातात्विक अवशेष, मंदिर आंदोलन से जुड़े फोटोग्राफ्स सहित कई प्रदेशों की रामलीला से जुड़ी कलाकृतियां वाह भगवान श्रीराम के जीवन काल से जुड़े 148 स्थलों की भी प्रदर्शनी होगी।
    5 अगस्त को भगवान श्री रामलला नवरत्न जड़ित पोशाक पहनेंगे, जिसके लिए हरे रंग के खास मखमली कपड़ों से बनाया जा रहा है।  रामलला के जन्मस्थान पर भव्य मंदिर का निर्माण प्रारम्भ होने जा रहा है। यह शुभ अवसर 500 वर्षों के बाद मिला जिसके लिए तैयारी की जा रही है। भगवान श्री रामलला अस्थाई मंदिर में विराजमान हैं इस दिन मंदिर परिसर में लगे पर्दे व वस्त्र को खास स्वरूप में तैयार हो रहा है। वहीं, रामालय ट्रस्ट के अध्यक्ष ने इन कपड़ों को नवरत्न जड़ित बनाये जाने का दावा किया है।भूमि पूजन में  बड़े पैमाने पर प्रसाद की व्यवस्था प्रशासन ट्रस्ट से  होगा ।
     अयोध्या से हनुमानगढ़ी मार्ग तक सुरक्षा के दृष्टिकोण से होगी बैरीकेटिंग। हनुमानगढ़ी गेट नम्बर तीन से रामजन्मभूमि में प्रवेश की सड़क को ठीक करा रहा है प्रशासन। जिला प्रशासन श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र से समन्वय स्थापित करके प्रधानमंत्री के कार्यक्रम मेंं अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाहन करेगा। सम्पूर्ण मार्ग की पीले रंग से पुताई के साथ एक लाख लोगो के प्रसाद की व्यवस्था की जायेगी। इसके साथ में अयोध्या से शहर मार्गो पर एक लाख दीपक जलेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आगमन को लेकर प्रशासनिक जिम्मेदारियां कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक करके जिलाधिकारी ने सौप दी गयी है।
           साकेत महाविद्यालय में प्रधानमंत्री के आगमन के लिए हेलीपैड़ ।  साकेत महाविद्यालय के मैदान का समतलीकरण ।  भव्य स्वागत गेट बनाया जायेगा। अयोध्या से हनुमानगढ़ी मार्ग तक रेलिंग व बैरीकेंटिंग । मार्ग के किनारे छोटी गुमटियों को हटाया  है। सम्पूर्ण मार्ग पर पीले रंग से पुताई । इसमें अयोध्या धाम से सम्बंधित कला व पेटिंग । मार्ग को फूलों से सजाया भी जायेगा। फैले विद्युत तारों को सही किया जायेगा। हनुमानगढ़ी सीढ़ियों व मंदिर की सफाई नगर निगम विशेष अभियान के तहत करायेगा। हनुमानगढ़ी गेट नम्बर तीन से श्रीरामजन्मभूमि प्रवेश द्वार तक सड़क को ठीक होगा । परिसर में टेंट, स्टेज लगाया जायेगा।
           प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पौधरोपण भी करेंगे। रामजन्भूमि  को रंगोली बनाकर सजाया जायेगा। अयोध्या शहर व सम्पर्क मार्गो पर एक लाख दिये जलेंगे। बीस स्थानों पर एलईडी स्क्रीन से लाईव प्रसारण किया जायेगा।  अयोध्या में गूंजेगी रामधुनी, लगाए जा रहे 3000 साउंड सिस्टम दिलचस्प होगा नजारा
     राम मंदिर निर्माण के साथ अयोध्या और उसके आसपास के क्षेत्रों को राममय बने जिसके लिए 3000 हजार साउंड सिस्टम लगाया जा रहा है। इसकी जिम्मेदारी महाकुंभ का आयोजन करने वाले आशा एंड साउंड प्रयागराज की दी गई है। अयोध्या सहित आसपास के क्षेत्रों तक साउंड के माध्यम से पहुंचाया जाएगा भगवान श्री राम के मंगल  धुनी दूर-दूर तक पहुंचाई जाएगी इसके लिए आशा साउंड कंपनी प्रयागराज की जिम्मेदारी दी गई है। पूरे आयोजन को साउंड सिस्टम के माध्यम से लोगों को सुनाई दे इसकी व्यवस्था की गई है । इसके साथ ही देश के प्रधानमंत्री अयोध्या व देशवासियों को संदेश देने के लिए भी साउंड का प्रयोग किया जा सकेगा।


    देव बक्स वर्मा अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.