Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सीएम सिटी गोरखपुर के मोहल्लों में 20 वर्षों से नही बनी हैं सड़कें, जलजमाव और कीचड़ से मुश्किल हुआ शहरवासियों का जीना

    सीएम सिटी गोरखपुर के मोहल्लों में 20 वर्षों से नही बनी हैं सड़कें, जलजमाव और कीचड़ से मुश्किल हुआ शहरवासियों का जीना

    गोरखपुर.
    सीएम सिटी होने के नाते गोरखपुर में विकास कार्य तो बहुत हो रहे हैं परंतु शहर के मोहल्लों में आज भी सड़क और नाली की कोई व्यवस्था न होने से विकास के सब दावे खोखले नजर आ रहे है। लगातार हो रही बारिश से गोरखपुर शहर के अधिकतर इलाकों के मोहल्लों में बहुत बुरी स्थिति है।

    शहर के एयरफोर्स एरिया के सैनिक कुंज, सैनिक विहार, पवन विहार, नया गाँव, दरगहिया, नंदानगर, शमशेर नगर, झरना टोला, मालवीय नगर, शताब्दीपुराम, जंगल तिनकोनिया नंबर एक के केवटहिया में सड़क पर कीचड़ से लोगों को काफी दिक्कत हो रही है।

    स्थानीय निवासी अनिल यादव ने बताया कि पिछले 20 वर्षों से सड़क की बुरी स्थिति है। न तो नगर निगम सुधि ले रहा है और न ही जन प्रतिनिधि। एयरफोर्स एरिया के सैनिक कुंज, सैनिक विहार आदि मोहल्ले में जलभराव और कीचड़ से लोगों का घरों से निकलना दूभर हो गया है।

    स्थानीय निवासी राजेश राय का कहना है कि सड़क टूट चुकी है। गड्ढों में पानी भरने से लोग गाड़ी लेकर गिर रहे हैं। वहीं बारिश थमने के बाद भी देवरिया बाईपास, कूड़ाघाट, राप्तीनगर के गणेशपुरम और रुस्तमपुर क्षेत्र जलभराव से लोगों को काफी दिक्कत हुई। महुईसुधरपुर वार्ड के शिवाजीनगर और बिछिया के तुलसीपुरम कालोनी में शनिवार को भी पानी लगा रहा। जीडीए की योजना बुद्ध विहार पार्ट ए, बी और सी में बारिश का पानी सड़कों पर लगा हुआ है।

    बता दें कि पिछली बरसात के बाद एक बार जोर शोर से सीवर लाइन व सड़क निर्माण का काम हर मोहल्ले में शुरू हुआ था। जिसे नगर विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल ने घटिया निर्माण बताकर रुकवा दिया था और जांच कराने की मांग भी की थी। जिसके बाद नगर विधायक और नगर निगम में ठन गयी थी और नगर निगम के सभी इंजीनियर हड़ताल पर चले गए थे। इनकी आपसी तनातनी का खामियाजा यह हुआ कि जो सड़कें बरसात से पहले बन जाने वाली थी वो सब काम ठप्प पड़ा रहा गया और अब गोरखपुर के लोग फिर एक बार पूरी बरसात नारकीय जीवन जीने को विवश हैं।

    इस प्रकार सीएम सिटी गोरखपुर के विकास का रोल मॉडल सिर्फ मुख्य सड़कों पर ही देखने को मिल रहा है जबकि शहर के मोहल्लों में रहने वाले शहरवासी सड़क और नाली जैसी सुविधाओं से वंचित एक नारकीय जीवन जीने को विवश है।

    गोरखपुर से रिपोर्टर अमित कुमार सिंह एवं रीजनल एडिटर संजय राजपूत
    INA News

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.