Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    ईंट के भट्टे पर छापा मारकर प्रशासन ने कराया मजदूरों को बंधन मुक्त और भेजा उन्हें उनके घर


    ईंट के भट्टे पर छापा मारकर प्रशासन ने कराया मजदूरों को बंधन मुक्त और भेजा उन्हें उनके घर


    फरीदाबाद। लॉक डाउन 4 खत्म हो गया है और अनलॉक 1 चल रहा है। पिछले दिनों लॉक डाउन के दौरान फरीदाबाद की सीमाओं से लाखों मजदूर उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश और झारखंड अपने घरों पर चले गए, लेकिन अभी भी काफी मजदूर ऐसे हैं जो घर तो जाना चाहते हैं, लेकिन उनके मालिक उन्हें फरीदाबाद से जाने नहीं दे रहे। ऐसा ही मामला फरीदाबाद के फफूंडा गांव में सामने आया है, जहां एक ईंट के भट्टे पर उसके मालिक ने कई मजदूरों को बंधक बनाकर रखा हुआ था और उन्हें जाने नहीं दिया जा रहा था। मित्तल भट्टे के नाम से यह शिकायत पिछले दिनों मुकेश नामक मजदूर ने प्रशासन को लिखित रूप में दी तो प्रशासन हरकत में आ गया। जिला प्रशासन में बल्लभगढ़ के तहसीलदार सुशील अत्री के नेतृत्व में लेवर विभाग, खाद्य आपूर्ति विभाग, पुलिस और अन्य विभाग की टीम को भट्टे पर भेज दिया। सभी सरकारी अधिकारियों ने मजदूरों को बंधन मुक्त कराया तथा उनके घर पर रवाना किया गया। भरी धूप में बुग्गी में सवार होकर जा रहे मजदूरों की मानें तो यहां उन्हें न तो खाने के लिए पर्याप्त भोजन ही दिया जा रहा था बल्कि भट्टे का मालिक उनके साथ गाली गलौज करता था। इसके अलावा मजदूरों के साथ मारपीट करता और उनकी तनख्वाह भी उन्हें नहीं दी जा रही थी। मजदूरों की मानें तो वे अपने घर जाना चाहते थे, लेकिन उन्हें जाने भी नहीं दिया जा रहा था।

    वही बल्लभगढ़ के तहसीलदार सुशील अत्री ने बताया कि मुकेश नामक किसी मजदूर ने फरीदाबाद के जिला उपायुक्त को उन्हें बंधक बनाने जैसी कई शिकायतें लिखित रूप में दी थी। उसी शिकायत के आधार पर आज भी संबंधित सभी विभाग के अधिकारियों के साथ यहां छापा मारने पहुंचे हैं। उनकी माने तो मजदूरों को उन्होंने बंधन मुक्त करवा दिया है।

    फरीदाबाद से सौरभ वर्मा

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.