Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पुलिस और अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों के सामने सिविल अस्पताल के इमरजेंसी में रिटायर्ड शिक्षक को चाकुओं से गोदकर उतारा मौत के घाट


    पुलिस और अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों के सामने सिविल अस्पताल के इमरजेंसी में रिटायर्ड शिक्षक को चाकुओं से गोदकर उतारा मौत के घाट


    फरीदाबाद।  सेवा, सुरक्षा और सहयोग का नारा देने वाली हरियाणा पुलिस रात को बेबस नजर आई। पुलिस के सामने ही एक युवक ने रिटायर्ड बुजुर्ग शिक्षक को चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस पूरी घटना में मूकदर्शक बनी रही। हालांकि पुलिस ने हत्यारे को रिटायर्ड शिक्षक के मरने के बाद गिरफ्तार तो कर लिया, लेकिन सवाल यह है कि यदि पुलिस चाहती तो हमला करने वाले युवक को रोककर उसे पकड़ लेती और मरने से पहले रिटायर शिक्षक को बचाया जा सकता था। हत्यारे के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

    दिखाई दे रहा जमीन पर पर पड़ा यह खून बल्लभगढ़ के सिविल अस्पताल का नजारा है जहां कल देर रात एक युवक ने सरकारी स्कूल में प्रिंसिपल रहे 60 वर्षीय उमाशंकर कौशिक को चाकू से गोदकर मौत की नींद सुला दिया। बड़ी बात पूरी घटना में यह रही कि जिस जगह यह वारदात हुई वहां हरियाणा पुलिस और सरकारी अस्पताल के सुरक्षाकर्मी मौजूद थे। 

    किसी ने भी उमाशंकर को बचाने की कोशिश तक नहीं की। बल्लभगढ़ सिविल अस्पताल के सीनियर मेडिकल ऑफीसर डॉ मानसिंह की माने तो हत्यारा पहले ही अपने साथ बड़ा चाकू लेकर आया था, जिससे उसने उमाशंकर को मौत के घाट उतार दिया। डॉ मानसिंह की माने तो यह बेहद ही शर्मनाक घटना है इस तरह की घटनाएं तो आगे होती ही रहेंगे लेकिन सरकार ने ऐसी घटनाओं पर रोकथाम लगाने के लिए जल्द ही सरकारी अस्पतालों में होमगार्ड के जवान तैनात करने के आदेश पिछले दिनों दिए थे। पुलिस कर्मी के सामने हुए हत्याकांड का अस्पताल में लगी सीसीटीवी फुटेज देने में अस्पताल प्रशासन बेबस नजर आया।

    वही फरीदाबाद पुलिस के प्रेस प्रवक्ता सुबह सिंह की माने तो सेक्टर 2 की एक सोसाइटी में दो पक्षों के बीच यह झगड़ा हुआ था। एक पक्ष में रिटायर्ड प्रिंसिपल उमाशंकर थे तो दूसरी तरफ महेश नामक पूर्व सोसायटी प्रधान था। कल रात झगड़े के बाद पुलिस इन का मेडिकल करवाने के लिए अस्पताल गई थी, वहां महेश ने चाकू से गोद कर उमाशंकर के हत्या कर दी। पुलिस की माने तो आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है। पुलिस की मानें तो पहले की गई मारपीट का मुकदमा भी आरोपी के खिलाफ अलग से दर्ज किया जाएगा।

    फरीदाबाद से सौरभ वर्मा

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.