Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    फरीदाबाद में वायरल हुआ कम्पनी में मौत का वीडियो


    फरीदाबाद में वायरल हुआ कम्पनी में मौत का वीडियो


    परिजनों का आरोप 36 घण्टे काम कराने से हुई मजदूर की मौत

    फरीदाबाद।  दिल्ली से सटे फरीदाबाद में कम्पनी में एक मजदूर की मौत का वीडियो वायरल हो रहा है जो इस कोरोना काल मे हैरान और परेशान करने वाला। वायरल वीडियो की जाँच करने पर पाया कि वीडियो फरीदाबाद के सैक्टर 24 स्थित वेलमेक्स कंपनी की है। जब मीडिया की टीम कम्पनी पहुँची तब मृतक के भाई और साथ काम करने वाले मजदूरों ने आरोप लगाते हुए कहा कि मृतक मजदूर को कंपनी में जबरन 36 घण्टे काम कराया गया था  ज्यादा गर्मी और अधिक घण्टों तक काम करने के चलते उसे खून की उल्टी हुई और उसकी कंपनी में ही मौत हो गई। वहीं पुलिस का कहना है की मृतक की मौत ईलाज के दौरान हुई थी जबकि परिजनों का कहना है कि अस्पताल पहुंचते ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।अब सच कौन बोल रहा है यह तो जाँच के बाद ही पता चलेगा। फिलहाल पुलिस का कहना है कि मृतक के परिजनों के बयान पर मामला दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।

    फरीदाबाद में वायरल हो रही इस वायरल वीडियो को जरा गौर से देखिए यह वहीं वायरल वीडियो है जो इस कोरोना महामारी काल मे लोगों को हैरान और परेशान कर रही है।इस वीडियो में आप देख सकते है कि एक मजदूर जमीन पर अचेत अवस्था मे पड़ा है उसके शरीर मे कोई हलचल नहीं हो रही है और कोरोना के डर से उसके पास न तो कम्पनी मैनजमेंट ,न कर्मचारी न सिक्योरिटी गार्ड कोई भी उसकी मदद नहीं कर रहा है सभी को कोरोना ने डरा रखा था जिसके चलते उसके पास कोई नहीं गया और वह इसी तरह बेसुध करीब डेढ़ घण्टे तक यूँ ही कंपनी में पड़ा रहा और उसकी मौत हो गई। मृतक के परिजनों और उसके साथियों ने कंपनी प्रबंधकों पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा की मृतक उमेश से जबरन कंपनी में लगातार 36 घण्टे काम कराया गया इस भीषण गर्मी में लगातार 36 घण्टे काम करने के चलते उमेश को खून की उल्टी हुई। जिसके बाद कंपनी में किसी ने उसकी मदद नहीं कि केवल डेढ़ घण्टों तक इधर उधर फोन घुमाते रहे और जबतक उमेश को अस्पताल लेकर जाया गया तबतक उसकी मौत हो चुकी थी डॉक्टरों ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया। साथी कर्मचारियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि अगर कम्पनी मैनेजमेंट की सही समय पर उमेश को मदद मिलती तो उसकी मौत नहीं होती।

    वहीं पुलिस का इस मामले में कहना है कि मृतक उमेश को कम्पनी में खून की उल्टी हुई थी इलाज के दौरान मौत हुई है। परिजनों के बयान के आधार पर मृतक का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उचित कार्यवाही की जाएगी।

    वही इस पूरे मामले पर जब हमने कंपनी प्रबंधन से बात करने का प्रयास किया तो उन्होंने इस मामले पर कुछ भी कहने से साफ़ मन कर दिया अब देखने वाली बात होगी की कंपनी प्रबंधन की लापरवाही पर पुलिस प्रसाशन क्या कार्यवाही करेगा

    फरीदाबाद से सौरभ वर्मा

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.