Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    प्रवासी मजदूरों के आने से बिगड़ी गोरखपुर की तस्वीर, गवाह हैं ये आंकड़े


    प्रवासी मजदूरों के आने से बिगड़ी गोरखपुर की तस्वीर, गवाह हैं ये आंकड़े


    गोरखपुर।  कोरोना मरीजों के मामले में लॉकडाउन पार्ट-4 के दौरान गोरखपुर जिले की सुंदर तस्वीर पूरी तरह बिगड़ गई। दूसरे राज्यों से लाखों प्रवासी मजदूरों के लाये जाने के कारण लॉकडाउन बढ़ने के साथ ही ग्रीनजोन का रंग बदलता चला गया। सबसे अधिक कोरोना मरीज लॉकडाउन-4 में मिले हैं। हालांकि, इस दौरान विभाग ने स्वास्थ्य सेवाएं भी बढ़ाई हैं और निजी अस्पतालों को इमरजेंसी में इलाज की मंजूरी भी मिली।

    गोरखपुर में जहां दूसरे लॉकडाउन में महज तीन से चार पॉजिटिव मरीज थे। इसके बाद संख्या लगातार बढ़ती गई। लॉकडाउन तीन में संख्या अचानक बढ़कर 30 के आसपास आ गई। इसके बाद यह आंकड़ा लगातार बढ़ता गया, जो लॉकडाउन चार खत्म होते-होते 74 तक पहुंच गया। इनमें पांच मौत भी शामिल हैं।

    यही नहीं लॉकडाउन चार में सबसे ज्यादा लोगों की जांचें भी हुई हैं और सबसे अधिक प्रवासी भी आए हैं। अब तक जिले में सवा लाख से अधिक प्रवासी आ चुके हैं। इनमें 93 हजार लोग क्वारंटीन और होम क्वारंटीन किए गए। सीएमओ डॉ. श्रीकांत तिवारी ने बताया कि कोविड-19 के मरीजों के इलाज की पूरी व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग के पास है।

    संजय राजपूत
    रीजनल एडिटर गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.