Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से मरीज की जान खतरे में किडनी लिवर पर साइड इफेक्ट


    झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से मरीज की जान खतरे में किडनी लिवर पर साइड इफेक्ट


    मुरादाबाद।  उत्तर प्रदेश मुरादाबाद के बिलारी तहसील के गांव सहसपुर में झोलाछाप डॉक्टर शकील के यहां एलर्जी की दवाई शारिक पुत्र मुस्तकीम अपने घर से सहसपुर दवाई लेने गया था लेकिन झोलाछाप डॉक्टर ने अपने पास भर्ती कर इलाज करने की बात कही मरीज और मरीज के परिवार वालों ने डॉक्टर के कहने पर अपने मरीज को भर्ती कर दिया लेकिन झोलाछाप डॉक्टर ने ड्रिप लगाई और कुछ दवाइयां मेडिकल से मंगाई कुछ दवाई अपने यहां से लगाई और इलाज शुरू कर दिया लेकिन 1 दिन बीतने के बाद मरीज की हालत बिगड़ने लगी  वहीं झोलाछाप डॉक्टर शकील ने अपनी डॉक्टर की दुकान से मरीज को धक्का मार कर बाहर कर दिया और मरीज  दुकान के सामने गिर गया वही मरीज के परिवार वालों ने मरीज को उठाकर अपने निजी वाहन से इलाज कराने के लिए महमदपुर एम एस अस्पताल में पहुंचे बिगड़ती हालत डॉक्टर ने  देखी तो मरीज को जांच के लिए भेजा जांच रिपोर्ट में डॉक्टर ने बताया की मरीज की गलत दवाइयां एवं नशीले इंजेक्शन लगने से गुर्दे और लिवर में काफी दिक्कत आ गई है एवं दवाई के इंफेक्शन होने से हालत बिगड़ रही है मरीज के परिवार वालों ने डॉ शकील से शिकायत की तो डॉ शकील एवं उसके परिवार वालों ने मरीज के घरवालों को धक्के मारे एवं मारपीट भी की मरीज के परिवार ने उप जिला अधिकारी  संजय कुमार मीणा से न्याय की गुहार  लगाई और झोलाछाप डॉक्टर शकील के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है

    उप जिलाधिकारी  संजय कुमार मीणा ने बताया कि यदि झोलाछाप एवं या डॉक्टर के पास कोई भी डिग्री नहीं है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी और उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई कर जेल भेजा जाएगा।

    सवाल इस बात का है कि आखिर झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ सरकार हर साल हर  हर  वक्त मुहिम चलाई जाती है  लेकिन ऐसे झोलाछाप डॉक्टरों का जमावड़ा मुरादाबाद में लगातार देखने मिल रहा है और आज दिन घटना है झोलाछाप डॉक्टर की दवाई उल्टी-सीधी लगने से मरीजों को परेशानी आती हैं।

     नानू वारसी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.