Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कुश्ती में गोल्ड मेडल हासिल करने वाले खिलाड़ी को पड़ रहे रोटी खाने के लाले कानपुर।

    कुश्ती में गोल्ड मेडल हासिल करने वाले खिलाड़ी को पड़ रहे रोटी खाने के लाले

    कानपुर।
    जिन हाथो ने अपने प्रतिद्वंद्वी को धूल चटाकर गोल्ड मैडल हासिल किये अब वही हाथ लेबरी करने को मजबूर है | दो जून की रोटी का जुगाड़ करने के लिए यह राष्ट्रीय खिलाडी बन रहे मकानों की दीवाल पर वाल पुट्ठी लगा रहा है | धनञ्जय नामक इस खिलाडी ने वुशु में तक नौ गोल्ड मैडल हासिल किये है |
    कभी वुशु की स्टेट और जूनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिताओ में अपने किक और पंच से सोना जीतने वाला धनञ्जय गौतम पर कोरोना की ऐसी मार पड़ी की उसको अपने परिवार का पेट पालने के लिए मजदूरी करनी पड़ रही है | धनञ्जय बताते है कि लाकडाउन से पहले वो दो स्कूलों में बच्चो को वुशु सिखाते थे,लेकिन लाकडाउन में स्कूल बंद हो गए | कोरोना के कहर से नौकरी छूटी तो परिवार का खर्चा चलाना मुश्किल हो गया | परिवार की कमजोर आर्थिक स्थिति व पिता के बीमार होने की वजह से घरो में रंगाई पुताई व वाल पुट्ठी का काम करना पड़ रहा है |
    ग्रीन पार्क मैदान में धनञ्जय को वुशु की प्रैक्टिस कराने वाले कोच संजीव शुक्ला को जब पता चला था कि यह काफी गरीब है तब इसको दो स्कूलो में बच्चो को वुशु सिखाने के लिए लगवा दिया था.लेकिन लाकडाउन के बाद स्कूलो के साथ ही खेल गतिविधियां बंद हो गई | काम कुछ रहा नहीं तो पैसे मिलने बंद हो गए | कुछ दिन तो जैसे तैसे चला लेकिन जब खाने के लाले पड़ने लगे तब मजदूरी करनी पड़ी | 
    धनञ्जय (राष्ट्रीय खिलाडी) 

    धनञ्जय ने वुशु में अपनी प्रतिभा के दम पर कई गोल्ड मैडल व सर्टिफिकेट हासिल किए | धनञ्जय के कोच संजीव शुक्ला ने बताया कि जितने भी खिलाडीयो को ट्रेनिंग दी जाती है और उनकी प्रतिभा के मुताबिक उनको स्कूलो में बच्चो को सिखाने के लिए लगा देते है,जिससे उनकी इनकम होती रहे |
    कोच

    कोरोना काल में लाकडाउन के कारण सब कुछ बंद हो गया जिससे कई खिलाडी पूरी तरह से बेकार हो गए | ऐसे खिलाड़ियों की किसी तरह से कोई मदद नहीं हो पा रही है जिसकी वजह से उनको जो भी काम मिल रहा है वो कर रहे है | कोच का कहना है कि डिस्ट्रिक इस्टेट व नेशनल में धनञ्जय ने कई गोल्ड मैडल हासिल किये है | इसके अंदर इतनी प्रतिभा है कि इसको एक बार वर्ल्ड चैम्पियनशिप खेलने के लिए भेजा गया था जिसमे इसने अच्छा परफॉर्मेंस किया था |  जब कोरोना काल समाप्त होगा तब लोग एक बार फिर धनञ्जय को मैडल जीतते हुए देखेंगे।

    इब्ने हसन जैदी
    आई एन ए न्यूज़ कानपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.