Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कोरोना काल में भूख से मर रहे जानवरो के लिए युवा बने मसीहा


    कोरोना काल में भूख से मर रहे जानवरो के लिए युवा बने मसीहा


    बेजुबानों की भूख का दर्द समझकर उन्हें भोजन देने निकल पड़े हरिद्वार के कुछ युवा

    हरिद्वार।  कोरोना से देश में जहां तीन लाख का आंकड़ा भारत में हो चुका है। ऐसे में लगातार देश में चल रहे लॉकडाउन के कारण सबसे बुरे दौर से जानवर गुजर रहे हैं. जानवरो को खाने के लिए पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं मिल पा रहा है. जिसकी वजह से वह हिंसक होते जा रहे है. हरिद्वार में हजारों की संख्या में बंदर ,कुत्ते रहते हैं, जो वहां आने वाले श्रद्धालुओं द्वारा दी गई खाने की वस्तुओं पर निर्भर रहते हैं. लेकिन लॉकडाउन में पाबंदियों की वजह से श्रद्धालु हरिद्वार से नदारद हैं. 

    होटल व रेस्टोरेंट भी बंद हैं. दुकानों पर भी आवश्यक चीजें ही उपलब्ध हैं. जिससे कोई खाने की वस्तुएं भी सड़कों पर वेस्ट के रूप में मौजूद नहीं है, जिन्हें भोजन के रूप में वे खा सकें. भोजन नहीं मिल पाने की वजह से बंदर कुत्ते  कुछ ज्यादा ही हिंसक हो रहे हैं. वह लोगों को काट रहे हैं.  इसके साथ साथ आवारा गाय और सांड भी भूख से बिलबिलाये घूम रहें है हरिद्वार की कई सामाजिक संस्थाओ ने शुरू में चारा आदि डालकर सेवा की लेकिन जिस तरह आंकड़ा बढ़ता जा रहा है कई सामाजिक लोग घरो मर कैद हो गए हैं ऐसे में आर्मी फॉर एनिमल्स की युवा टीम लगातार मैदान में डटी हुई है लेकिन जानवरो की भूख मिटाने के लिए संस्था की मेम्बर शिवानी लोगो से आवाहन कर रहीं हैं की लोग इस बेजुबान जानवरो की मदद को आगे आयें।

    राजकुमार पाल

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.