Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जिले में पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए प्रशासन ने तैयार किया मास्टर प्लान


    जिले में पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए प्रशासन ने तैयार किया मास्टर प्लान


    पलवल। पलवल जिले में पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए जिला प्रशासन ने मास्टर प्लान तैयार किया है। मानसून के दौरान जिले में पौधारोपण अभियान चलाया जाएगा। जिले में सौंदर्यीकरण को बढ़ावा देने के लिए 500 गुलमोहर के पौधे लगाए जाएगें। शैक्षणिक संस्थानों में ज्यादा से ज्यादा संख्या में जामुन के पौधे लगाए जाएगें ताकि बच्चों को जामुन खाने को मिले और बच्चों के शरीर में आयरन की मात्रा भरपूर हो सके। यह जानकारी उपायुक्त नरेश नरवाल ने आज लघु सचिवालय के सभागार में प्रैस वार्ता को संबोधित करते हुए प्रदान की। 

    उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि पलवल जिले में पौधारोपण अभियान चलाया जाएगा। अभियान के तहत जिले के सभी स्कूल,कॉलेजों,औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों,पॉलिटेक्निक, यूनिवसिर्टी में पौधारोपण किया जाएगा। पौधारोपण करने के बाद पौधों की देखभाल करना सुनिश्चित किया जाएगा। पौधों की जीयो टैगिंग भी की जाएगी। उपायुक्त ने बताया कि पलवल जिले में पिछले मानसून सत्र के दौरान 90 हजार पौधे लगाए गए जिनमें से 60 प्रतिशत पौधे ग्रोथ कर रहे है। जिले के सौन्र्दयकरण को बढावा देने के लिए सरकारी इमारतों व सडक़ों के दोनों तरफ गुलमोहर के पौधे लगाए जाएगें। इसके साथ ही शैक्षणिक व सार्वजनिक स्थानों में जामुन के लगाने का कार्य किया जाएगा। वन विभाग के अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए गए है कि नर्सरी में पौधे तैयार कर रिपोर्ट पेश करें। उपायुक्त ने बताया कि पौधारोपण अभियान में जन भागेदारी होना जरूरी है। लोगों को भी पौधारोपण के बारे में जागरूक किया जाएगा। प्रत्येक व्यक्ति अपने घर व आस पडोस में पौधारोपण अवश्य करें। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण जिले में यमुना के पानी में सुधार हुआ है। प्रदूषण में भारी कमी आई है। पर्यावरण को बचाने के लिए सभी को एकजुट होकर पौधारोपण अभियान को बढावा देना चाहिए।

    पलवल से ऋषि भारद्वाज की रिपोर्ट

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.