Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    आज से अयोध्या में खुले धार्मिक स्थल, दूर से ही पूजा, मूर्ति स्पर्श का आदेश नहीं


    आज से अयोध्या में खुले धार्मिक स्थल, दूर से ही पूजा, मूर्ति  स्पर्श का आदेश नहीं


    अयोध्या।  अयोध्या एक धार्मिक नगरी है। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की पावन नगरी अयोध्या में सरकार के आदेश के अनुपालन में  जिला प्रशासन की देखरेख में  सरकारी नियमों का पालन करते हुए  सोशल डिस्टेंसिंग  तथा मास्क लगाकर  पूजा अर्चन शुरू हो गया  किंतु किसी को मूर्त स्पर्श का आदेश नहीं है  यहां तक कि विभिन्न मंदिरों में  प्रसाद भी नहीं चल रहा है  मात्र दर्शन हो रहे हैं वह भी एक बार में केवल 5 लोग ही मंदिर परिसर में प्रवेश कर रहे हैं  भीड़ लगाने की अनुमति नहीं है  सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं।  

    अयोध्या के नागेश्वर नाथ मंदिर में भगवान भोलेनाथ को जलाअभिषेक सीधे नहीं किया जा रहा है बल्कि गेट पर जल चढ़ाने से भोलेनाथ की शिवलिंग पर जलचर जाएगा ऐसी व्यवस्था मंदिर व्यवस्थापक द्वारा किया गया है इसी तरह हनुमानगढ़ी में भी सुरक्षा की दृष्टि से व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं सैनिटाइजर की व्यवस्था है बिना मास्क के अनुमति नहीं है सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन हो रहा है एक बार में केवल 5 लोग दर्शन कर रहे हैं उनके आगे बढ़ने पर 5 लोगों को पुनः भेजा जा रहा है इसलिए श्रद्धालु संत महंत तथा व्यवस्था सबको सुविधा हो रही है अब तक मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, चर्च आदि धार्मिक स्थल लॉक डाउन के चलते अभी तक बंद थे. लेकिन आज से  नियमों के साथ खुल  गए  केंद्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक प्रदेश सरकार ने भी 8 जून  से धार्मिक स्थलों, शॉपिंग मॉल, होटल और रेस्तरां भी अनलॉक  हो रहे हैं.  इसके लिए कुछ शर्तें भी तय की गई हैं. इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग और संक्रमण से बचने हेतु साफ सफाई के तय मानकों का अनुपालन अनिवार्य     है।.  

    लोग कोरोना से बचने के लिए आवश्यक उपाय कर सकें. . मंदिर में बाहर से लाया हुआ भोग भी भगवान को नहीं चढ़ेगा. भक्त मंदिर में ही तैयार किया हुआ भोग भगवान को चढ़ा सकेंगे. एक साथ मंदिर के गर्भगृह में 5 श्रद्धालुओं को ही जाने की अनुमति होगी. लेकिन श्रद्धालु प्रतिमा को स्पर्श नहीं कर पाएंगे. सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पुजारी प्रसाद का भोग लगाएंगे. मंदिर में आने वाले भक्तों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य  हैं।. इसके साथ ही पुजारी भी ग्लब्स और मास्क का प्रयोग करेंगे. पुजारी नियमित अंतराल पर हाथों को सेनिटाइज भी करेंगे.

    मुस्लिम धर्मगुरुओं ने भी मस्जिद में नमाज पढ़ने को लेकर पूरी तरह गुइडलाइन के पालन करने का अनुरोध किया है.।  इसके लिए अयोध्या के जिला अधिकारी ने सभी धर्म गुरुओं हिंदू मुसलमानों के शीर्ष पुजारी महंत  मौलवी को बुलाकर बैठक किया दिशा निर्देश जारी किया कि सरकारी नियमों का पालन करते हुए कार्य करना है ताकि किसी तरह से असुविधा ना हो और कुरौना पर पूरी तरह से काबू पाया जा सके ।

       देव बक्स वर्मा 
    अयोध्या उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.