Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पलवल बागवानी में मेरा पानी मेरी विरासत स्कीम


    पलवल बागवानी में मेरा पानी मेरी विरासत स्कीम

    पलवल।  बागवानी विभाग द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत स्कीम के तहत धान की खेती करने की बजाय सब्जियों की खेती करने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। जिला बागवानी अधिकारी डा. रज्जाक ने बताया कि सब्जियों की खेती करने के लिए किसानों को निशुल्क बीज उपलब्ध करवाया जा रहा है वहीं बागवानी विभाग द्वारा 8 हजार रूपए प्रति एकड़ व कृषि विभाग द्वारा 7 हजार रूपए प्रति एकड़ कुल 15 हजार रूपए प्रति एकड़ अनुदान राशी भी प्रदान की जाएगी। सरकार की इस योजना से जिले के किसानों का रूझान सब्जियों की खेती करने की ओर बढ़ रहा है। किसानों ने कहा कि सरकार की योजना से पानी की बचत होगी और सब्जी की खेती करने से किसानों को दोगुणा मुनाफा भी होगा। 

    जिला बागवानी अधिकारी डा. रज्जाक ने बताया कि हरियाणा सरकार ने मेरा पानी मेरी विरासत योजना शुरू की है। सरकार का उद्देश्य है कि पानी की बचत की जाए। कम पानी में अधिक पैदावार की जाए। बागवानी विभाग जिले के किसानों को धान की खेती करने की बजाय बागवानी की खेती करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। यदि किसी किसान ने पिछले वर्ष खेत में धान लगाया हो और इस साल धान ना लगाकर कोई भी हाईब्रिड सब्जी की खेती करता है तो उस किसान को कृषि विभाग की तरफ से सात हजार रूपए दिए जाएगें। वहीं खेत में हाईब्रिड सब्जी लगाने की एवज में आठ हजार रूपए बागवानी विभाग द्वारा प्रदान किए जाएगें। उन्होंने कहा कि जो भी किसान भिंड़ी की फसल की बिजाई करना चहाता है। उन्हें मुफ्त भिंड़ी का बीज उपलब्ध करवाया जा रहा है। यह बीज नेशनल शीड़ कॉरपोरेशन द्वारा तैयार किया गया है। बागवानी विकास मिशन के अंर्तगत प्रति एकड़ पर आठ हजार रूपए का अनुदान विभाग द्वारा भिंड़ी की फसल लगाने पर किसानों को दिया जा रहा है। 

    अनुदान की यह राशी किसानों के खाते में डाल दी जाएगी। बेल वाली सब्जी को बांस बल्ली के माध्यम से ऊपर चढ़ाने तथा ड्रिप प्रणाली अपनाने पर किसानों को चालीस हजार रूपए प्रति एकड़ के हिसाब से अनुदान प्रदान किया जाएगा। फसल विविधिकरण कार्यक्रम जिले में लॉर्ज स्केल पर चल रहा है। बागवानी विकास मिशन के तहत 900 एकड़ का टारगेट दिया गया है। यह टारगेट आज शाम तक पूरा कर लिया जाएगा। जिन किसानों ने पिछले साल धान लगाया था वो किसान इस वर्ष धान ना लगाकर सब्जी की खेती करेगें। उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि धान की बजाय अधिक से अधिक मुनाफा कमाने के लिए सब्जियों की पैदावार करें। 

    गांव पालड़ी के किसान देवेंद्र कुमार ने बताया कि किसान बागवानी की तरफ बढ़े और धान की बजाय सब्जियों की खेती करें। जिले के किसानों का रूझान बागवानी की तरफ लगातार बढ रहा है। बागवानी विभाग द्वारा किसानों को निशुल्क बीज उपलब्ध करवाया जा रहा है।

    पलवल से ऋषि  भारद्वाज की रिपोर्ट

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.