Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    रैडक्रॉस सोसायटी के वॉलेंटियरों ने बालीनगर में रह रहे बुजुर्ग दंपत्ति के बैंक से 20 हजार रूपए निकालकर पहुंचाए उनके घर


    रैडक्रॉस सोसायटी के वॉलेंटियरों ने बालीनगर में रह रहे बुजुर्ग दंपत्ति के बैंक से 20 हजार रूपए निकालकर पहुंचाए उनके घर


    पलवल।  सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के दिशानिर्देशानुसार कोविड़ 19 के दौरान 65 वर्ष की आयु के बुजुर्ग दंपत्तियों की मदद के लिए रैडक्रॉस सोसायटी सराहनीय कार्य कर रहा है। रैडक्रॉस सोसायटी के वॉलेंटियरों ने बालीनगर में रह रहे बुजुर्ग दंपत्ति के बैंक से 20 हजार रूपए निकालकर उनके घर पर पहुंचाने का कार्य किया।

    जिला रैडक्रॉस सोसायटी के महेश मलिक ने बताया कि कोविड़ 19 के दौरान जिले में बुजुर्ग दंपत्तियों को दवाईयां,राशन व अन्य सहायता प्रदान करने के लिए रैडक्रॉस के वॉलेंटियर लगातार सेवा कर रहे है। पलवल के बालीनगर में बुजुर्ग दंपत्ति अकेले रहते है। चंडीगढ़ से उनके बेटे दीपक नाशा ने फोन पर सूचना दी कि पलवल शहर में उनके बुजुर्ग माता पिता रहते है, जिन्हें 20 रूपए की जरूरत है। सूचना मिलने के बाद रैडक्रॉस सोसायटी की टीम घर पर पहुंची और उनके एचडीएफसी बैंक से 20 हजार रूपए निकलवाकर घर पर पहुंचाने का कार्य किया। जिला प्रशासन द्वारा किए गए इस कार्य से बुजुर्ग दंपत्ति खुश है। उन्होंने इस कार्य के लिए जिला प्रशासन व रैडक्रॉस सोसायटी का हार्दिक धन्यवाद व्यक्त किया है। उन्होंने बताया कि सूची के अनुसार 14 बुजुर्ग दंपत्ति है जो अकेले रह रहे है। यदि उन्हें किसी भी प्रकार की कोई सहायता की आवश्यकता होगी तो वह उपलब्ध करवाई जाएगी। 

    बालीनगर में रहने वाली बुजुर्ग महिला मीरा ने बताया कि उन्हें 20 हजार रूपए की नकदी की आवश्यकता थी। फोन करने पर रैडक्रॉस सोसायटी की टीम घर पर पहुंच गई और रूपए निकलवाकर उनकी मदद की है। जिसे लेकर वह खुश है।

    पलवल से ऋषि भारद्वाज की रिपोर्ट 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.