Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने प्रदेश के 132 स्कूलों पर ठोंका जुर्माना


    हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने प्रदेश के 132 स्कूलों पर ठोंका जुर्माना


    (बोर्ड द्वारा लगाई गई एग्जाम ड्यूटी न देने पर ठोका जुर्माना, तय समय पर जुर्माना नही दिया तो जुर्माना राशि 5000 की बजाए भरनी होगी 1 लाख की राशि)

    (मान्यता रद्द करने  संबंधित करवाई भी कर सकता है बोर्ड, बीजेपी शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष  व प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने भी दिया बयान, कहा  कोई जुर्माना नही है प्राइवेट स्कूलों पर)

    (कहा बोर्ड ने पहले माफ किया था जुर्माना, कहा बोर्ड हठधर्मिता पर अड़ा, जल्द बैठक करके बनाएंगे आगे रणनीति)

    भिवानी। निजी स्कूल संचालकों पर बोर्ड ने 5 हज़ार रुपये जुर्माना लगाया था। इसकी समय सीमा 10 जून को समाप्त होगी। बोर्ड ने साफ कर दिया है कि जो प्राइवेट स्कूल जुर्माना नही भरेंगे उन पर यह राशि 1 लाख रुपये लगाई जाएगी। साथ ही उनके मान्यता पर भी गाज गिर सकती है। 

    हरियाणा में बोर्ड के एग्जाम हुए थे। बोर्ड के इन एग्जाम में निजी स्कूल के अध्यापकों की ड्यूटी लगाई गई थी। बोर्ड ने बताया कि 3300 निजी स्कूलों के अध्यपको की ड्यूटी लगाई गई थी। ऐसे में 800 स्कूलों ने ड्यूटी नही दी थी। बोर्ड ने 800 पर जुर्माना लगाया था। 800 में से 668 स्कूल थे जिन्होंने अब जुर्माना राशि दे दी है। अब 132 स्कूल ऐसे है जिन्होंने जुर्माना नही दिया है। बोर्ड चैयरमेन डॉ जगबीर सिंह ने बताया की ऐसे अब 132 स्कूल बचे है जिन्होंने जुर्माना राशि नही भरी है। ऐसे 132 स्कूलों के खिलाफ बोर्ड ने करवाई करने का मन बना लिया है। चैयरमेन ने बताया कि अगर तय समय 10 जून तक ये जुर्माना राशि नही भरेंगे तो इन पर 1 लाख रूपये जुर्माना लगाया जाएगा। साथ ही उनके  मान्यता रद्द करने पर विचार किया जाएगा। चैयरमेन ने बताया बोर्ड ने जुर्माना इसलिये लगाया है क्योंकि इन स्कूल के स्टाफ ने बोर्ड के साथ कोऑपरेट नही किया था। जबकि बोर्ड ने पहले भी जुर्माना माफ किया था। 

    वही प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के व भारतीय जनता पार्टी अध्यापक प्रकोष्ठ के राज्य प्रधान रामावतार शर्मा ने बताया कि बोर्ड ने पहले ही जुर्माना माफ कर दिया था। अब दुबारा वही जुर्माना लगाने की बात बोर्ड कर रहा है जो की गलत है। उन्होंने कहा कि बोर्ड हठधर्मिता बपर अड़ा है। वे लोग अपनी यूनियन की बैठक करके निर्णय लेंगे और बोर्ड के खिलाफ आंदोलन छेड़ेंगे।

    रिपोर्टर राकेश भारतीय

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.