Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर- 10वीं के छात्र ने बनाई ऑटोमेटिक सैनिटाइजर रोबोट मशीन

    कानपुर- 10वीं के छात्र ने बनाई ऑटोमेटिक सैनिटाइजर रोबोट मशीन

    खुद ही की सारी प्रोग्रामिंग, मोबाइल से होती है कंट्रोल

    कानपुर।
    हुनर उम्र का मोहताज नही होता यदि सच्ची लगन है तो कोई कुछ भी कर सकता है । कुछ ऐसी ही लगन के चलते ऐसा ही कर दिखाया है यूपी के कानपुर जिले के रहने वाले 10वीं के छात्र ने. जिसने इस कोरोना काल में एक सेनेटाइजर रोबोट तैयार किया है. जिसकी खास बात ये है कि ये रोबोट पूरी तरह से आटोमैटिक है और इसको मोबाइल से हैंडिल किया जा सकता है. यहीं नहीं, इस छात्र ने इसके काम करने की पूरी प्रोग्रामिंग भी खुद ही बनाई है.
    छात्र मयंक

    जूही निवासी 10वीं के छात्र मयंक सक्सेना ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए एक रोबोट तैयार किया है, जो ना सिर्फ आपके शरीर को ऑटोमेटिक सेनिटाइज करेगा, बल्कि शरीर का तापमान भी बताएगा. यह एक ब्लूटूथ कंट्रोल्ड रोबोट है. ये खूबियां इसे अन्य सेनेटाइजर मशीन से अलग करती हैं. अपने आप में अनोखे सैनिबॉट के प्रोटोटाइप को तैयार करने में महज 1300 रुपये का खर्च आया है.
    मयंक द्वारा बनाई गयी मशीन, जिसे मोबाइल
    से कंट्रोल किया जा रहा है.

    मयंक ने बताया कि इसकी कंट्रोलिंग मोबाइल से हो जाती है. यहीं नहीं, इसमें जो थर्मामीटर लगा है, इसको टच करते ही आप के शरीर का टेंपरेचर रिकॉर्ड हो जाएगा. अगर शरीर का टेंपरेचर ज्यादा होगा, तो ये बता देगा. सामने की ओर सेंसर लगा हुआ है, जिसके पास आते ही मोटर स्टार्ट हो जाएगी और आप अपना हाथ सेनेटाइज कर सकते हैं।
    अपने पिता राजेन्द्र कुमार और भाई के साथ मयंक

    वहीं मयंक के राजेन्द्र कुमार पिता जो जल निगम में सुपरवाइजर है कम आय में परिवार चला रहे हैं. पर बच्चे के हुनर को देखते हुए हर सम्भव उसकी आर्थिक रूप से मदद कर रहे है ।

    इब्ने हसन जैदी
    आई एन ए न्यूज़ कानपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.