Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जान भी जहान भी" में पुलिस की अहम् भूमिका


    जान भी जहान भी" में पुलिस की अहम् भूमिका

    प्रधान मंत्री के 'जान भी जहान भी' के स्लोगन से मिलती है, एक सकरात्मक ऊर्जा । वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ रणनीति बनाने और लॉकडाउन पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से एक नई सुफुर्ति डाल दी, आज के हालात देखते हुए और इस वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने के साथ साथ हर इंसान के लिए वो हर संभव कोशिश करते नज़र आ रहे है। 


    इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए डॉक्टर, नर्स और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों ने बखूबी जिम्मेदारी संभाल रखी है वहीं दूसरी ओर इस कोरोना काल में देश की शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस की अहम जिम्मेदारी है। पुलिस हमेशा से अपनी अहम् जिम्मेदारी निभाती आयी है। पुलिस विभाग में पुलिस प्रशिक्षण के दौरान ऐसे आपात काल से कैसे जिम्मेदारी निभाई जाये ऐसे कोई दिशा निर्देश नहीं दिए जाते है, आज हमारी पुलिस अपनी ड्यूटी बड़ी चुनौती से निभा रहे है।

     कई जगह पर पुलिस और स्वास्थ्य सेवाओं की टीमों पर पथराव, हमले और प्रतिरोध का भी सामना करना पड़ा रहा है।आज के समय में पुलिस केवल अपराधों को रोकने के साथ साथ लोगो की जरुरत पर भी ध्यान दे रही है। आज पुलिस दोहरी जिम्मेदारी निभा रही है, ड्यूटी के साथ साथ कही खाना,कहीं मास्क बना कर बाट रही हैं । सीनियर सिटीजन के लिए सारी जरूरते जैसे दवा और अन्य जरुरत की चीज़े पहुंचने का लगातार प्रबंध करा रही हैं। ऐसी वैश्विक महामारी में पुलिस अपने जान की परवाह किये बगैर लोगो की जान बचाने में लगे पड़े हुए है। अस्पतालों, क्वारेंटाइन सेंटर, कंटेनमेंट क्षेत्र में तैनात पुलिसकर्मियों में संक्रमित होने का खतरा सर्वाधिक है। जिम्मेदारी इतनी बड़ी है कि अपनी और अपने परिवार की परवाह किए बिना देश की सेवा में लगी हुई है। आज हमारे पुलिस कर्मी वास्तव में अत्यधिक बहादुरी का काम कर रहे हैं। पुलिस कही पर सख्ती तो कहीं पर नरमी रुख अपनाकर जनता को अवेयर कर रही है। ताकि लोग घर पर ही रहे और अपनी जान की सुरक्षा करें। आज हमारी पुलिस ही लॉक डाउन का दिशा निर्देश जैसे लोग बेवजह न घूमें तथा लोगो को सोशल डिस्टन्सिंग का सख्ती से पालन करा रही है। कोरोना को हराने, लॉकडाउन को सफल बनाने एवं लोगों को किसी तरह की दिक्कत न हो, इसके लिए पुलिस दिन-रात काम कर रही है। इससे कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई और मजबूत हो रही है। पुलिस जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए और सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन कराने का भी दायित्व निभा रही हैं । कोरोना काल में सुरक्षा कोरोना फइटर्स को मेरा सलाम ।

    डॉ अंशु दीक्षित मनोवैज्ञानिक सलाहकार,
    P.Hd. M.B.A. , Hr & IR, M.A. (Psychology)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.