Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पूर्व मंत्री को जान से मारने की धमकी, एफआईआर दर्ज



    पूर्व मंत्री को जान से मारने की धमकी, एफआईआर दर्ज


    (बिफरे मंत्री ने भजपा सरकार पर फोड़ा ठीकरा, कहा जबसे सरकार से हटा हूँ, मैं और मेरे दोनों बेटों को मिल रही है धमकी)

    (एसपी बोले, आरोपी को पकड़ लिया गया है, लेकिन वो राजभर का पुराना कार्यकर्ता)

    गाजीपुर। पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर को फोन पर गाली देने और जान से मारने की धमकी मिली है, और ये बात उन्होंने गाज़ीपुर के कासिमाबाद थाने में एफआईआर कराकर और खुद एक वीडियो संदेश जारी कर पूरी बात बताई है। पूर्व मंत्री के जारी बयान में कहा कि जब से वे भाजपा के साथ गठबंधन से हटे है मुझे और मेरे दोनों पुत्रों को लगातार जान से मारने की धमकी दी जा रही है। वहीं इस मामले में गाज़ीपुर के एसपी डॉ. ओमप्रकाश सिंह ने भी मामले की पुष्टि करते हुए बताया है कि विधायक जी की कम्प्लेन पर आरोपी व्यक्ति को पकड़ लिया गया है, लेकिन वो अपने को विधायक जी का पुराना कार्यकर्ता बता रहा है, चुकी विधायक जी ने तहरीर जरूर दी है लेकिन गली गलौज या धमकी का कोई क्लिप नहीं दिया है, हालांकि पुलिस उसकी गहन जांच कर रही है।


    बता दें कि उत्‍तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने आरोप लगाया है कि उन्हें फोन पर अज्ञात शख्स ने जान से मारने की धमकी दी है। जान से मारने की धमकी मामले में पूर्व मंत्री व गाज़ीपुर के जहूराबाद विधायक ओमप्रकाश राजभर की तहरीर पर गाजीपुर के कासिमाबाद थाने में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है। फिलहाल फोन पर जान से मारने की धमकी मामले में पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने एक अपने बयान का वीडियो भी जारी किया है। जारी वीडियो में पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने बताया कि जबसे शासन सत्ता से हटे है और गरीबो की सही बात को कह रहे है। तब से उनके पुत्र अरबिंद राजभर, अरुण राजभर और खुद मुझे लगातार फोन से धमकियां मिलने का दौर शुरू हो गया है। सबसे पहले इस तरह के मामले में पहले लखनऊ में केस दर्ज हुआ था, फिर बाराबंकी में दर्ज हुआ और इसी कड़ी में 14 मई को अपने आवास रसड़ा से जहूराबाद विधानसभा में अपने एक कार्यकर्ता के घर गमी में द्वार करने जा रहा था कि कासिमाबाद थाना इलाके के परजीपाह में मेरे मोबाइल पर एक धमकी भरा फोन आया। जिसमे मुझे भद्दी भद्दी गालिया दिया जा रहा था और जान से मारने की धमकी दी गई है। इस बात की जानकारी मेरे द्वारा मौखिक रूप से थाना कासिमाबाद को बताया गया था। जब मामले में पुलिस के द्वारा कुछ नहीं किया गया तो 16 मई को मेरे द्वारा थाने पहुंच कर तहरीर दी गई है। ओमप्रकाश राजभर ने सेल्फ बाइट का वीडियो 18 मई की शाम को जारी किया है और 4.11 मिनट के वीडियो में वे भाजपा सरकार और धमकी देने वाले के ऊपर नाराज होते भी दिख रहे हैं। लेकिन एसपी गाज़ीपुर की मानें तो मामला जांच का है और पुलिस को अभीतक मात्र तहरीर मिली है जबकि कोई सबूत पूर्व मंत्री द्वारा नहीं दिया गया है, जो एसपी बता भी रहे हैं।

    महताब आलम

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.