Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पलवल मंडी में भीगा अनाज लाखों का नुकसान


    पलवल मंडी में भीगा अनाज लाखों का नुकसान


    पलवल। पलवल जिले में देर रात हुई बरसात से अनाज मंडी ने तालाब का रूप ले लिया है ! जिसके कारन होडल की अनाज मंडी में गेहूं के हजारों कट्टे पानी में डूब गए है ! इस बारिश में आढ़तियों का कई लाख का नुकशान हुआ है ! लोक डाउन के कारण मजदूर ना मिलने के कारण गेहू का उठान न होने से लाखो का गेहू हुआ है। आखिर इस नुकसान का जिम्मेदार कौन होगा यह एक बड़ा सवाल।

    होडल में देर रात हुई बरसात आढ़तियों के लिए आफत बनकर बरसी ! बारिश की वजह से होडल की अनाज मंडी ने तालाब का रूप ले लिया ! दिखाई दे रहा यह नजारा होडल अनाज मंडी का है जहा हजारो कट्टे गेहू के  पानी में डूब गए है ! जिससे आढ़तियों को लाखो का नुकसान भुगतना पड़ेगा ! मंडी में कई कई  फिट पानी भरा  हुआ है !  पहले तो कोरोना की मार अब इंद्रदेव ने भी अपना प्रकोप दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है !  आढ़तियों का कहना है लोक डाउन के चलते मजदूर अपने प्रदेशो को चले गए जिसके कारण मजदूरों  कमी आई है और मंडी से गेहू की उठाई नहीं हो पा रही है ! अगर समय पर लेबर मिल जाती तो आज हम आढ़तियों को लाखो का नुकसान नहीं उठाना पड़ता ! अब इसका हम आढ़तियों को उठाना पडेगा ! उन्होंने कहा की  मार्किट कमेटी की तरफ से कोई इन्तजामात नहीं किए गए है जिसके चलते कई हजारहाजरों  गेहू के कट्टे पानी में डूब रहे है।


    वही एक आढ़ती ने कहा की होडल अनाज मंडी मार्किट कमेटी को कई लाख की फ़ीस दी जाती है लेकिन सूविधा के नाम पर होडल मंडी जीरो है ! इस मंडी में कोई सूविधा नहीं है ना किसानो के लिए ना आढ़तियों के लिए कहने को तो करीब सौ एकड़ मंडी के लिए जमीन एक्वायर भी की गई है ! लेकिन करीब चार साल में यह मंडी तैयार नहीं हुई है अगर सरकार जल्द ही नई मंडी को जल्द तैयार करके आढ़तियों को दुकान मुहिया करा देती तो आज आढ़तियों को नुकसान से बचाया जा सकता था ! लेकिन सरकार की इस कछुआ गति के कारण आढ़तियों को व किसानो को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है सरकार को जल्द ही सौ एकड़ मंडी को तैयार कर दुकान अलर्ट करनी चाहिए जिससे आढ़ती व किसानो को यह कुदरती मार से बचाया जा सके।


    पलवल से ऋषि   भारद्वाज की रिपोर्ट 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.