Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या में दिनदहाड़े खूनी संघर्ष, के साथ बड़ा अपराधों का ग्राफ, जनता में भय व्याप्त



    अयोध्या में दिनदहाड़े खूनी संघर्ष, के साथ बड़ा अपराधों का  ग्राफ, जनता में भय व्याप्त  

    अयोध्या। अयोध्या जनपद जितना शांति चल रहा था लोग अमन चैन से जी रहे थे अब उस सुख शांति चयन में बाधा हो गई है और अपराध का ग्राफ दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है कई हत्याएं हो चुकी है जिसको लेकर आम जनता में भय व्याप्त हो गया है दोहरे हत्याकांड में अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है राजनीति भी खूब होने लगी है एक दूसरे के सिर पर आरोप मढ़ रहे हैं हां यह सही है कि विवाद काफी पुराना है और उसको सुलझाने का प्रयास नहीं किया गया था पुलिस को भी इसकी जानकारी थी पुलिस ने भी कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई जिस कारण यह घटना घटित हुई है ऐसे में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अयोध्या ने हैरिंग्टनगंज के चौकी प्रभारी को तथा कई सिपाहियों को निलंबित करते हुए नए चौकी प्रभारी की नियुक्ति कर दिया है वहीं पर स्थानीय विधायक अंतिम संस्कार में गए हुए थे जिनको उग्र जनता ने खदेड़ा और विधायक ने भागकर अपनी जान बचाई आम जनता में यह भाई व्याप्त है कि जब दिनदहाड़े गोली चलेगी तो आप लोगों का क्या होगा  हैरिंग्टनगंज ब्‍लॉक के पलिया प्रताप शाह गांव के ग्राम प्रधान जयप्रकाश सिंह और रनर प्रत्याशी राम पदारथ यादव उर्फ नन्हा यादव के बीच विवाद हो गया. इसके बाद हुए खूनी संघर्ष में दोनों पक्षों ने एक दूसरे को गोली मार दी. इसमें दोनों की मौत हो गई. सूचना मिलने पर एसएसपी आशीष तिवारी समेत भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचा. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम  कराया गया और उसी दिन अंतिम संस्कार भी कर दिया गया.


    बताया जाता है कि मृतक प्रधान जयप्रकाश सिंह बीजेपी सांसद लल्लू सिंह का करीबी था. घटना कि जानकारी होने पर सांसद लल्लू सिंह भी मौक़े पर पहुंचे थे. वारदात से हड़कंप मच गया. मौके पर हजारों की तादात में लोग एकत्रित हैं. भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद  थी और मामले की जांच पड़ताल की जा रही है. घटना के पीछे आपसी विवाद माना जा रहा है.

    फायरिंग में घायल हुए जयप्रकाश सिंह को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उनकी मौत हो गई, जबकि जिला अस्पताल में ही  दूसरे पक्ष की भी मौत हो गई. दोनों की दुश्मनी काफी पुरानी बताई जाती है. फिलहाल पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है. वारदात के बाद मृतकों के घर में कोहराम मचा हुआ है.

    वहीं दूसरी तरफ  थाना इनायतनगर क्षेत्र के ही  राजन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जिसमें पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल के सलाखों में भेज दिया है जिसे लेकर भी  काफी वापो की स्थिति  और लोगों में भय व्याप्त था तीसरी घटना  थाना महराजगंज क्षेत्र की है. दो दिन पहले मंशाराम यादव  की गोली मारकर हत्या कर उसकी लाश को रेत में छुपा दिया गया था. उसका शव पुलिस ने  बरामद किया है. फिलहाल पुलिस घटना की जांच पड़चाल में जुटी है. थाना महाराजगंज की पुलिस ने इस मामले में चार आरोपी को गिरफ्तार कर जेल की राह पकड़ा दिया मृतक  मंशाराम यादव सरयू किनारे साधु के भेष में रहकर जमीन खरीदने बेचने का काम करताथा  उसका अपराधिक इतिहास भी है इस प्रकार के कई हत्या आत्महत्या के मामले प्रकाश में आए हैं अपराधों का ग्राफ जिस तरह से बढ़ रहा है उसको लेकर जनपद की जनता में भय और आक्रोश व्याप्त है।

    देव बक्श वर्मा

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.