Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लू के थपेड़ों,तेज धूप व उमस भरी गर्मी से जन जीवन अस्त व्यस्त


    लू के थपेड़ों, तेज धूप व उमस भरी गर्मी से जन जीवन अस्त व्यस्त


    अयोध्या।  पिछले 1 सप्ताह से पड़ रही भीषण गर्मी,तेज धूप व उमस से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। लोगों की दैनिक दिनचर्या प्रभावित हुई है। गर्म हवा व लू के थपेड़ों से लोगों का बुरा हाल है।पशु-पक्षी भी व्याकुल हैं। मानव की तरह जानवरों को भी काफी परेशानी हो रही है ।

    कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए ड्यूटी में जगह-जगह फील्ड में तैनात सुरक्षाकर्मियों,स्वास्थ्य कर्मियों,सफाई कर्मियों,तहसील कर्मियों,मीडिया कर्मियों सहित अन्य कोरोना योद्धाओं के लिए तेज उमस और गर्मी दिक्कत पैदा कर रही है। लोग पसीने से तर-बतर हो रहे हैं। बिजली भी लो बोल्टेज के साथ आंख मिचौली खेल रही हैं। रुदौली बीकापुर सोहावल गोसाईगंज मया खजुराहट व तहसील क्षेत्र सहित अन्य बाजारे सूनी पड़ी है।

    खेती किसानी का कार्य भी प्रभावित हो रहा है। धूप और गर्मी के कारण लोग घर से नहीं निकल रहे हैं। दोपहर में सड़कें वीरान हो जाती हैं राहगीरों के लिए कोई सुविधा नहीं  है ।इस भयंकर गर्मी लू व उमस  के चलते  बुखार सर दर्द बदन दर्द हरारत  होना आम बात है।

    लॉक डाउन के इस मौसम में किसी के घर आना जाना भी उचित नहीं है क्योंकि इससे छुआछूत के कारण वायरस का संक्रमण होने का डर रहता है बिजली का कंजक्शन बढ़ने के कारण  लो वोल्टेज की मार  आम जनता झेल नहीं है वहीं पर बिजली की आंख मिचौली तथा बार-बार बिजली का कटना आम लोगों को पीड़ा दे रहा है । बड़े लोगों का क्या कहना वह तो ऐसी में बैठे रहते हैं और उन्हें लाइट कटने का भी भय नहीं रहता है।  किंतु  मध्यम और कमजोर वर्ग के लोग जो खेती किसानी करते हैं कड़ाके की धूप दोपहर में जब अपने खेत से कृषि कार्य करके  घर आते हैं और घर आने पर पंखा की हवा खाना चाहते हैं जब बिजली नहीं रहती है तो उन्हें कितना कष्ट होता है इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। खेती किसानी भी पानी के अभाव में सूख रही हैं कहीं-कहीं पर हैंड पंप पानी देना बंद कर दिए हैं कुछ रूप में भी पानी का अभाव देखा जा रहा है यदि यही हाल रहा तो लोगों को पीने के पानी के  भी संकट हो सकता है यह कहना है कि ऐसे मौसम में लोगों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।ज्यादातर घर के अंदर रहे। बाहर निकलने पर लू लगने के साथ सर्द गर्म की शिकायत हो सकती है।डॉक्टरों की राय है कि  यदि बहुत जरूरी होने पर ही धूप में घर से बाहर निकलते समय सूती और हल्का कपड़ा पहनने के साथ चेहरे को कपड़े से ढकने की जरूरत है।गर्भवती महिलाओं बुजुर्गों और बच्चों को खास सावधानी बरतने की जरूरत है।  

         देव बक्स वर्मा 
    अयोध्या उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.