Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कोरोनावायरस और अलविदा जुमे की नमाज

    कोरोनावायरस और अलविदा जुमे की नमाज



    बलिया।  शुक्रवार को अलविदा जुमा था और यानि रमज़ान के पाक मुकद्दस माह में पडने वाला  आख़िरी जुमा ।

    कोरोनावायरस जैसी महामारी को लेकर पूरी दुनिया समेत भारत में भी इस बिमारी को लेकर सावधानियां बरती जा रही है ।
    और इसी को लेकर आज जिला प्रशासन के निर्देशों का पालन और इस बिमारी से बचाव को ध्यान रखते हुए माहे मुबारक महीने के आखिरी जुमा को भी लोगों ने , फुरादा यानि  अकेले बिना जमात के नमाज़ पढ़ी गई ।

    इस सिलसिले में जब बलिया शिया जामा मस्जिद के मुतवल्ली सैय्यद शहंशाह ज़ैदी से पुछा गया तो ।
    शहंशाह ज़ैदी इस वजह कोरोनावायरस जैसी महामारी का जिक्र करते हुए इसके बचाव और सरकार के निर्देशों का पालन करना बताया । 

    शहंशाह ज़ैदी ने जोर देकर कर कहा कि हमारे आलम का हुक्म और डाक्टर कि सलाह दोनों कि बातों को मानना चाहिए क्योंकि इस बिमारी से बचाव बचाव का यही सही रास्ता है

    अपने बयान शहंशाह ज़ैदी ने फुरादा और घरों पर ही रहकर नमाज पढ़ने को कहा और अपने संक्षिप्त संदेश में सबसे अच्छी बात पड़ोसी और गरीब असहायों 

    का खास ख्याल  रखने को कहा पड़ोसी चाहे किसी भी धर्म सम्प्रदाय का हो उसका विषेश ख्याल रखना हमारा नैतिक कर्तव्य बताया । मुतवल्ली शिया जामा मस्जिद ने कहा , बेवजह घरों से फालतू निकलने को मना किया ।

    आसिफ जैदी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.