Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    दोहरे हत्याकांड के ग्राम प्रधान के हत्या के मामले में चार लोग आला कत्ल सहित गिरफ्तार

    दोहरे हत्याकांड के ग्राम प्रधान  के हत्या के मामले में  चार लोग आला कत्ल सहित गिरफ्तार




    अयोध्या ।  अयोध्या  जनपद  के थाना इनायतनगर में 18 मई को ग्राम प्रधान व उसके प्रतिद्वंदी राम पदारथ  की गोली चलने से हत्या हो गई थी जिसको लेकर दोनों तरफ से  मुकदमा दर्ज कराया गया है । मुकदमे की विवेचना स्थानीय थाने की पुलिस द्वारा किया जा रहा है वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक फैजाबाद में अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर दी थी। एक टीम थाना प्रभारी और दूसरी टीम एसओजी प्रभारी की देखरेख में चल रही थी और पुलिस द्वारा यह कहा जा रहा था कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। उसी क्रम में ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या व हत्या का षणयंत्र रचने वाले  चार  आरोपियों को पुलिस ने  व घटना में प्रयुक्त आला-ए-कत्ल 02 अदद नाजायज देशी तमन्चा एवं 02 अदद जिन्दा, 01 खोखा कारतूस व 01 अदद कुल्हाड़ी बरामद कर लिया है। 

       पुलिस सूत्रों से जानकारी के अनुसार 18 मई को पलिया प्रताप शाह के ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या में सम्मिलित  आरोपियों की गिरफ्तारी  जरिए मुखबिर खास सूचना मिली कि हत्या में शामिल आरोपी भाउपुर तिराहे पर कही जाने के लिए खडे है ।इस सूचना पर विश्वास करके स्थानीय थाने की पुलिस एसओजी की टीम मैं पुलिस बल के साथ पुलिस टीम  मुखविर के बताये अनुसार उक्त स्थान पर पहुॅचकर दोनों टीमों द्वारा  घटना में शामिल 04 अभियुक्त अंकित यादव, रजनीश उर्फ रज्जन तिवारी, सौरभ यादव व रामदीन उर्फ बीरू को गिरफ्तार किया गया। 

    पकडे गये अभियुक्तों से  कड़ाई से पूछने  पर बताये कि राम पदारथ उर्फ नान्ह यादव (मृतक) और ग्राम प्रधान जय प्रकाश सिंह (मृतक) के बीच चुनावी रंजिश थी, रंजिशन राम पदारथ यादव ने बेटे अंकित यादव व अन्य  साथियों के साथ मिलकर षणयंत्र रचकर पूर्व नियोजित योजना के अनुसार 18. मई को गाॅव में हो रही पंचायत के दौरान राम पदारथ यादव व ग्राम प्रधान जय प्रकाश सिंह के बीच वाद-विवाद के दौरान राम पदारथ यादव के द्वारा गोली मारने का प्रयास किया गया और गुत्थम गुत्था  भी हुई। उसी दौरान अंकित यादव द्वारा लिए गये तमन्चे के फायर व साथी बीरू द्वारा कुल्हाडी के वार से मौके पर ही प्रधान जय प्रकाश सिंह की हत्या कर दी गयी। मौके से फरार होकर हत्या में प्रयुक्त हथियारों को अहिरन का पुरवा से पहले स्थित बाग की घनी झाडियों में छुपा दिया था, जिसे गिरफ्तारी के पश्चात अभियुक्तों द्वारा बरामद कराया गया। बरामद हथियारों को वैलेस्टिक जाॅच हेतु फारेन्सिक लैब भेजा  जाएगा। अन्य इलेक्ट्रानिक व भौतिक साक्ष्यों को समायोजित करते हुए घटना का सफल अनावरण किया गया है, तथा हत्या में प्रयुक्त हथियारों की बरामदगी की गयी है।    
       
    गिरफ्तारी व बरामदगी के लिए लगायी गयी पुलिस टीम को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की तरफ से 20,000/रू0 का नगद पुरस्कार प्रदान किया गया है। एक तरफ जहां घटना को लेकर आम लोगों में भय व्याप्त है वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी करके जनता के बीच यह संदेश देने का प्रयास किया है कि दोषी किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएंगे।

          देव बक्स वर्मा 
      आई एन ए, न्यूज़ 
    अयोध्या उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.