Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    डीएम साहब! बिजली भिजवाय दिओ, मरे जा रहे हैं, फसलें सूख रही हैं..

    डीएम साहब! बिजली भिजवाय दिओ, मरे जा रहे हैं, फसलें सूख रही हैं..


    (जरीफनगर विद्युत उपकेंद्र के लगभग दर्जन भर गांव प्रभावित, बिजली कटौती के कारण किसानों की फसल सूखकर हो रही बर्बाद। किसानों ने  किया बिजली घर का किया घेराव)


    जरीफनगर। सहसवान तहसील के विद्युत उपकेंद्र जरीफनगर क्षेत्र के लग्भग दर्जनभर गावो में बिजली की कटौती को लेकर हाहाकार सा मचा हुआ। जिससे किसानों मांथे पर चिंता की लकीरें साफ साफ दिखने लगी हैं। किसानों का कहना है कि एक तरफ लॉक डॉउन के कारण पहले से मर चुके हैं ओर दूसरी तरफ फसल को तैयार करने के लिए लोगो से कर्ज लेकर खाद बीज एव दवाओं का प्रबंध कर पाए उसके बाद अब बिजली रुला रही हैं। वही किसानों ने बताया कि अगर इसी तरह से यदि आगे बिजली नही आई तो हमारी फसल सूख कर बर्बाद हो जाएगी और हमने फसल में खाद बीज के लिए कर्ज लेकर जो रुपया लगाया था बो कहाँ चुका पाएंगे।एव अपने बच्चों का भरण पोषण किस तरह से कर पायेंगे।
    लेकिन बिजली विभाग के अधिकारी इन गरीब किसानों की कोई सुनने को तैयार नही है। इसलिए मजबूरन लोगो ने जिलाधिकारी के नाम शिकायती पत्र देकर कारवाही की मांग की हैं। इस दौरान छेत्र के निवासी सिरसा खुर्द, रदनौल अजीजपुर, खनुआ नगला, दांदरा वस्तोई सीकरी सहित अन्य कई गांवो के लोग मौजूद थे।

    1.लॉक डॉउन में वैसे ही बर्बाद हो गए ऊपर से बिजली की कटौती मारे डाल रही है दिन रात में कुल मिलाकर दो ढाई घण्टे ही लाइट आ रही हैं जिससे मेंथा की फसल सूख चुकी है। अगर आगे भी यही हाल रहा तो मेंथा की फसल बर्बाद हो जाएगी। किसान- चोबसिंह


    2-पालेज के साथ साथ पशुओं का हरा चारा भी सूख गया है जिससे पशुओं का पेट न भर पाने के कारण भैंसे आधा दूध भी नही दे पा रही बच्चों का भरण पोषण के लिए दूध के अलावा और कोई रास्ता नही है। किसान -छाऊ सिंह


    3- खेतो में हरी सब्जी एव पिपरमेंट की फसल सूख रही है पिपरमेंट की फसल के लिए हर तीसरे दिन पानी लगना चाहिए लेकिन इस समय नही मिलने से फसल सूख रही हैं। बिजली की कटौती नही करनी चाहिए। किसान-रामरहीश

    किसानों के बाबत जब एसडीओ सहसवान सत्येंद्र सिंह से इस सम्वन्ध में बात करनी चाही तो उनका फोन ही नही उठा।

    जगतपाल की रिपोर्ट

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.