Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शिक्षक राजेंद्र कुमार कड़वासरा से सिखें कोरोना जागरूकता प्रबंधन


    शिक्षक राजेंद्र कुमार कड़वासरा से सिखें कोरोना जागरूकता प्रबंधन 

     (कोरोना काल में अपने नावाचारी कार्यों से जिले भर में बने स्टार राजेंद्र कुमार कड़वासरा की कहानी) 



    " गांव का हर परिवार मेरे अपने परिवार जैसा है। यह मेरी कर्मभूमि है। इन परिवारों के सदस्यों को इस महामारी के दौरान कोरोनावायरस से बचाना मेरा पहला कर्तव्य है। चाहे इसकी बदौलत मुझे कितने ही कष्ट उठाने पड़ें। मैं इस कार्य से कतई पीछे नहीं हटूंगा। संकटकाल में लोगों की सेवा से मुझे असीमानन्द की अनुभूति होती है।" 

     अयं निज परो वेति गणना लघु चेतसाम।
     उदार चरितानाम तु वसुधैव कुटुंबकम।।

           राजेंद्र कुमार कड़वासरा वर्तमान में राजस्थान के जालौर जिले में रानीवाड़ा तहसील के गांव भाटीप के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में वरिष्ठ अध्यापक पद पर कार्यरत हैं। विद्यार्थी जीवन से ही अपनी प्रतिभा की पहचान बना चुके रहे राजेंद्र कुमार कड़वासरा मूलत: सांचौर के पमाना गांव निवासी हैं। जब से लॉकडाउन हुआ है, तब से आपको श्रीमान उपखण्ड अधिकारी रानीवाड़ा द्वारा कोरोना महामारी को लेकर गांव भाटीप के ग्राम प्रभारी के रूप में नियुक्त किया गया।



     समस्याओंं के वैकल्पिक समाधान से बन गए स्टार 
    अभियान की शुरुआत के दिनों में प्रशासन के पास मास्क नहीं थे। मैंने गांव के दर्जी समुदाय के परिवारों से संपर्क करके लगभग 800 मास्क गांव के लोगों को एवं हमारे कोरोना योद्धाओं को वितरण करवाकर समस्या का समाधान किया। गांव के युवाओं को प्रेरित करके अभावग्रस्त लोगों को राशन सामग्री का वितरण किया। 


    बनाए डिजिटल सूचना ग्रुप 
    राजेंद्र कुमार ने बताया कि सर्वप्रथम मैंने सोशल मीडिया व्हाट्सएप, फेसबुक एवं ट्विटर के माध्यम से लोगों में कोरोनावायरस के प्रति जागरूकता पैदा की। ग्राम पंचायत के सरपंच श्री हरदानाराम बिश्नोई तथा ग्राम विकास अधिकारी श्री आसुराम बिश्नोई ने मेरे हर आह्वान को सहयोग दिया। 
    लाउडस्पीकर को बनाया प्रचार का हथियार 
    गांव में लाउडस्पीकर के द्वारा प्रतिदिन सुबह 9:00 से 12 एवं सायं काल में 5:00 बजे से लेकर 7:00 बजे तक प्रचार प्रसार किया गया। हमने पंचायत भवन से लेकर के पूरे ग्राम में लाउडस्पीकर के द्वारा जनचेतना जागृत की। 

    चौपालों के आयोजन से जागरूकता 
    हमने गांव के हर वार्ड में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए छोटी-छोटी चौपाल आयोजित कर महिलाओं और बच्चों को विशेष तौर पर जागरूक किया। 

     स्क्रिनिंग के साथ पूरे गांव में स्वास्थ्य सर्वेक्षण 
    चिकित्सा विभाग के सहयोग से गांव में बाहर से आने वाले सभी 350 प्रवासियों की स्क्रीनिंग के साथ-साथ संपूर्ण गांव में स्वास्थ्य सर्वे कर हेतु गांव में कार्यरत एएनएम ने घर घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच की एवं मेरे द्वारा सर्वे किए के प्रवासियों के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी चिकित्सा विभाग के उच्च अधिकारियों को प्रेषित की। 
    धारा 144 की पालना से गांव बना मॉडल-धारा 144 की पालना व गांव में चेतना जागृत करने का कार्य हो चिकित्सा विभाग एवं पुलिस प्रशासन के सहयोग से आज मेरा गांव रानीवाड़ा तहसील में ही नहीं बल्कि पूरे जिले में जागृति के रूप में पहचान बना चुका है। 


     प्रवासियों के चेहरों पर लाई मुस्कान 
    श्रीमान जिला कलेक्टर के निर्देशानुसार 10 अप्रैल 2020 के बाद आने वाले प्रवासियों को संस्थागत क्वॉरेंटाइन करने हेतु हमारे विद्यालय में क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया गया।जिसमें भी हमारे गांव के 14 लोगों ने अपने स्वास्थ्य एवं गांव के स्वास्थ्य हेतु क्वॉरेंटाइन का नियमानुसार पालन किया। राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भाटीप में चले आइसोलेशन सेंटर को लेकर सुखद अनुभव यह रहा कि उनके भोजन की व्यवस्था भामाशाह एवं उनके परिवार के व्यक्तियों ने की, क्वारेंटाइन के दौरान प्रावासियों को किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ा, उनके चेहरों पर इसकी खुशी साफ झलक रही थी। 

    जी जान से की मेहनत
     ग्राम पंचायत के संपूर्ण राजकीय भवनों सार्वजनिक स्थानों, दुकानों  के सामने सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव श्रीमान हरदाना राम बिश्नोई सरपंच एवं ग्राम विकास अधिकारी श्री आसुराम बिश्नोई,  व्याख्याता श्री रघुनाथ राम तथा ग्राम प्रभारी डीगांव मेरे छोटे भाई हरिराम विश्नोई के सहयोग से  कोरोनावायरस के प्रभाव को कम करने का प्रयास किया गया।

     और लॉकडाउन में बच्चों को भी पढाया 
    कोरोना योद्धा व स्टार ग्राम प्रभारी के रूप में जिले भर में पहचान बना चुके राउमावि भाटीप के वरिष्ठ अध्यापक राजेंद्र कुमार कड़वासरा ने बताया कि ऐसे दौर में बच्चों की ऑनलाइन स्माइल कक्षाएं भी आयोजित की।

     प्रस्तुति-अरविन्द सुथार, वरिष्ठ कृषि एवं पर्यावरण लेखक जालौर 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.