Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    संभल में सपा दलित नेता और उसके बेटे की सरेआम गोली मारकर हत्या



    संभल में सपा दलित नेता और उसके बेटे की सरेआम गोली मारकर हत्या 


    पुरानी रंजिश में प्रधान पति और उनके बेटे की गोली मारकर हत्या,सनसनी 

    हत्या के पीछे मनरेगा के तहत बनाई जा रही सड़क का विरोध


    (छोटे लाल दिवाकर को समाजवादी पार्टी ने बीते विधानसभा चुनाव में चंदौसी विधानसभा क्षेत्र से अपना प्रत्याशी बनाया था। हालांकि बाद में यह सीट गठबंधन खाते में कांग्रेस के पास चली)


    गांव के ही दबंग है दोनो सर्वेंद्र ओर जितेंद्र पुलिस दबिश दे रही है 

    संभल। जनपद सम्भल के बहजोई थाना इलाके के शमशोई गांव में मंगलवार  सुबह समाजवादी पार्टी के दलित नेता और उनके बेटे की सरेआम गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई। हत्या के पीछे मनरेगा के तहत बनाई जा रही सड़क का विरोध बताया जा रहा है। गांव के ही कुछ दबंग इस सड़क का विरोध कर रहे थे। दिन निकलते ही हुई सनसनीखेज दोहरे हत्याकांड के बाद पुलिस अधीक्षक के साथ ही आईजी भी मौके पर पहुंचे हैं, हालांकि हत्यारोपी अभी पुलिस पकड़ से दूर हैं।


    समाजवादी पार्टी के नेता छोटे लाल दिवाकर की पत्नी गांव की प्रधान हैं। ऐसे में उनका भी ज्यादातर काम छोटेलाल दिवाकर ही देखते थे। छोटे लाल दिवाकर मंगलवार की सुबह अपने बेटे  सुनील दिवाकर के साथ गांव की आबादी के बाहर मनरेगा से बन रही सड़क का जायजा लेने गए थे। आरोप है कि इसी दौरान गांव के ही कुछ दबंग वहां पहुंच गए और आगे अपने खेत होने का हवाला देते हुए सड़क निर्माण का काम आगे न बढ़ाने की हिदायत दी। जब छोटे लाल दिवाकर ने ऐसा करने से इंकार कर दिया तब दबंगों ने छोटे लाल दिवाकर की गोली मारकर हत्या कर दी।
    बेटे सुनील ने जान बचाकर भागने का प्रयास किया, लेकिन हत्यारों ने उसे भी गिराकर मौत के घाट उतार दिया। 
    इस दोनो हत्या में सर्वेंद्र ओर जितेंद्र के 4 लोग ओर है ग्राम के ही दबंग है 
    पुलिस ने तीन टीम बनाई है आरोपीओ की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही हे

     छोटे लाल दिवाकर को समाजवादी पार्टी ने बीते विधानसभा चुनाव में चंदौसी विधानसभा क्षेत्र से अपना प्रत्याशी बनाया था। हालांकि बाद में यह सीट गठबंधन खाते में कांग्रेस के पास चली गई थी और छोटेलाल चुनाव नहीं लड़ पाए थे। छोटेलाल इस समय चंदौसी विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी प्रभारी के रूप में काम कर रहे थे।

    सालिम रियाज़
    ब्यूरो चीफ
    बदायूं।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.