Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    दस दिनों से शेल्टर होम में रह रहे प्रवासी श्रमिकों का फूटा गुस्सा


    दस दिनों से शेल्टर होम में रह रहे प्रवासी श्रमिकों का फूटा गुस्सा

     गुस्साए संतों ने हाइवे जाम करने के साथ-साथ किया उग्र प्रदर्शन

    जाम लगने से जगाधरी-छछरौली मार्ग पर लग गई वाहनों की लंबी कतारें

    अधिकारियों द्वारा काफी देर तक श्रमिकों को समझाने के पश्चात माने श्रमिक


    यमुनानगर। दस दिनों से शेल्टर होम में रहकर अपने घर लौटने की इंतजार कर रहे बिहार के सैंकड़ो प्रवासी श्रमिको का मंगलवार को सब्र का बांध टूट गया। गुस्साए प्रवासी श्रमिको ने शेल्टर होम से निकल कर जगाधरी-छछरौली मार्ग पर मानकपुर के नजदीक जाम लगा दिया और प्रदर्शन करने लगे। मौके पर प्रवासी मजदूरों ने बिहार के सीएम नितिश कुमार के विरुद्ध भी जमकर नारेबाजी की। पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह प्रदर्शनकारियों को समझकर जाम खुलवाया और उन्हें उनके शेल्टर होम में भेजा।


    -घर लौटने की व्यवस्था नहीं करने पर भड़के बिहार के मजदूर
    मंगलवार सुबह मानकपुर शेल्टर होम से बिहार के सैंकड़ो मजदूर निकल कर जगाधरी-छछरौली मार्ग पर पहुंच गए और जाम लगा दिया। इस दौरान प्रवासी मजदूर बिहार के मु यमंत्री नितिश कुमार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए प्रदर्शन करने लगे। प्रदर्शनकारी बिहार के प्रवासी मजदूर प्रभात, रामभज यादव, सुधीर, गोपाल, हरिचंद, मुकेश व ललन आदि ने बताया कि वह अमृतसर व पंजाब के अन्य स्थानों से कामधंधा बंद होने पर भूखे प्यासे पैदाल चलते हुए दस दिन पहले यमुनानगर पहुंचे थे। इस दौरान उन्हें स्थानीय प्रशासन ने रोकर शेल्टर होम में रख दिया गया। उन्हें आश्वासन दिया गया था कि उन्हें जल्द ही घर भेज दिया जाएगा। मगर दस दिन बीत जाने के बावजूद उनके घर लौटने की व्यवस्था नहीं की गई है। जबकि अन्य प्रदेशों के प्रवासी मजदूरों को बसों में बिठाकर भेजा जा रहा है।


    -बिहार के सीएम पर लगाया व्यवस्था नहीं करवाने का आरो
    प्रदर्शनकारी मुकेश, जसिं्र यादव, रमन लाल, मनीष व जगलाल आदि ने आरोप लगाया कि लॉकडाउन में फंसे  प्रवासी मजदूरों को उनके घरों को भेजे जाने के लिए अन्य प्रदेशों की सरकारें व्यवस्था करवा रही हैं। जबकि बिहार के मु यमंत्री नितिश कुमार बिहार के प्रवासी मजदूरों को उनके घरों को भिजवाए जाने की कोई व्यवस्था नहीं करवा रहे हैं। जिसकी वजह से हरियाणा सरकार भी उन्हें उनके घर भेजे जाने के लिए कोई गंभीर नहीं दिखाई दे रही है। उनके बच्चे व परिवार के लोग भूखा मर रहे हैं। उन्होंने मौके पर जमकर बिहार के मु यमंत्री नितिश कुमार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए।


    -घर भेजने का आश्वासन देकर खुलवाया जाम
    बिहार के मजदूरों द्वारा मानकपुर के नजदीक जाम लगाकर प्रदर्शन करने की सूचना मिलते ही जगाधरी के डीएसपी सुधीर तनेजा अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे। इस दौरान डीएसपी सुधीर तनेजा ने प्रवासी मजदूरों को उन्हें जल्द ही उनके घर भेजा जाने का आश्वासन देकर शांत किया। जिसके बाद प्रवासी मजदूरों ने जाम खोल दिया और शेल्टर होम में चले गए। मगर उन्होंने चेतावनी दी कि यदि उन्हें जल्द उनके घर भेजे  जाने की व्यवस्था नहीं की  तो वह पैदल जाने पर मजबूर हो जाएंगे।

    यमुनानगर हरियाणा से राकेश भारतीय की रिपोर्ट

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.