Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लॉकडाउन के बाद महंगाई पर काबू रखना होगा



    लॉकडाउन के बाद महंगाई पर काबू रखना होगा 



         एक संभावना ये भी जताई जा रही है कि, कोरॉना नाम की ये बीमारी शायद कभी खत्म    ही ना हो जैसे मलेरिया, ट्यूबरक्लोसिस या कैंसर आदि कुछ ऐसी ही बीमारियां हैं जो एक बार आई तो कभी जड़ से समाप्त नहीं हुई। कुछ ऐसी ही भूमिका कोरोना की भी हो सकती है। 


                  हालांकि, एक वक्त के बाद इंसानी शरीर इस बीमारी का अवरोधी हो जाएगा । जैसे चमगादड़ों में, ये बीमारी सैकड़ों वर्षों से है लेकिन, आज उन्हें इससे ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता। लेकिन हां, वक्त के साथ इस बीमारी का इलाज ज़रूर ढूंढ़ लिया जाएगा। तब इससे छुपकर घर में बैठने की आवश्यकता नहीं होगी। ये सच है कि, कोरोना महामारी के दौरान तालाबन्दी की  वजह से बहुत से लोग बेरोजगार हो गए हैं। छोटे-बड़े सभी उद्योग धंधे ठप्प पड़ गए हैं। घर से काम करने वालों की तादात भी ज्यादा नहीं है। लेकिन दूसरी ओर ये भी बात ध्यान देने वाली है कि, आज जो अर्थव्यवस्था डगमगाई हुई है, वो सिर्फ इसलिए क्योंकि, सरकार ने आमजन के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए स्वेच्छा से लॉक डाउन किया। दूसरी ओर इस परिस्थिति से निपटने के लिए सरकार आर्थिक मदद भी दे रही है और इसमें सभी शामिल हैं, छोटे-बड़े उद्योपति, आम जन या व्यापारी वर्ग ऐसे में मेरा मानना यह है कि, जब लॉक डाउन हटेगा तो, शुरू - शुरू में सकता है कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर आने में वक्त लगे । लेकिन, बाद में ये एकदम रफ्तार पकड़ेगी। 

                  भारत कृषि प्रधान देश है यहां के कृषि भण्डार देश को मजबूती देने में सक्षम है। लेकिन इसके बावजूद भी अन्य कार्यों को भी रफ्तार देनी आवश्यक है। दैनिक उपयोगी वस्तुओं की महंगाई पर काबू रखना होगा, अन्यथा आम आदमी लॉकडाउन में जितना परेशान नहीं हुआ उससे ज्यादा महंगाई से मारा जाएगा। लॉकडाउन के दिनों में देश के गरीब लोगों को कुछ समाजसेवी संस्थाओं ने राशन आदि का सहयोग भी किया लेकिन बाद में कोई नहीं करेगा और उपर से महंगाई की मार होगी तो गरीबी स्तर के लोगों पर काफी आघात होगा। ऐसे में सरकार को अल्पकालिक योजनाओं के द्वारा तुरन्त रोजगार का सृजन करना होगा, महानरेगा जैसे ग्रामीण रोजगीर गारण्टी वाली योजनाओं को और मजबूत करना होगा।

     अंजू शर्मा, सीनियर एडिटर, एंकर एवं लेखिका, नई दिल्ली। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.