Header Ads

  • INA BREAKING NEWS



    दिल्ली-गुड़गांव बॉर्डर सील, सुबह से ही दिखी सख्ती


    गुड़गांव। लॉकडाउन में गुड़गांव से कामकाज के सिलसिले में दूसरे शहरों खासकर दिल्ली आने-जाने वालों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। शुक्रवार सुबह 10 बजे के बाद दिल्ली की सीमाओं पर सख्ती बढ़ा दी जाएगी और आवागमन पर अंकुश रहेगा। जिलाधीश अमित खत्री की ओर से इस संबंध में गुरुवार को आदेश दिए गए। गृह मंत्रालय के आदेशानुसार दी गई छूट के तहत पहले से जिन्हें अनुमति दी गई है, वे सीमा पार आ-जा सकेंगे। 



    पहले लेना होगा पास. 
    सरहौल बॉर्डर व कापसहेड़ा बॉर्डर, गुड़गांव-फरीदाबाद, मेवात व गुड़गांव मार्ग के साथ अन्य मार्गों पर सख्ती बढ़ा दी जाएगी। इस सख्ती में शुक्रवार से दिल्ली की ओर लोगों के आवागमन पर अंकुश रहेगा। डीएम अमित खत्री ने बताया कि बहुत ही जरूरी होने पर लोगों को सीमा पार जाने के लिए जिलाधीश कार्यालय से परमिशन लेनी होगी। राष्ट्रीय राजमार्ग या राज्यीय राजमार्ग पर आवश्यक व गैर जरूरी वस्तुओं या माल की ढुलाई करने वाले वाहनों को जिले में आने जाने की अनुमति तो होगी लेकिन इन वाहनों को जिले की सीमा पार करने की अनुमति नहीं होगी। इन सभी की भी प्रवेश करते समय सीमा पर थर्मल स्कैनिंग और रोग सूचक स्क्रीनिंग की जाएगी। 

    बॉर्डर पर होगा रैपिड टेस्ट. 
    सरकारी कार्यालयों के अधिकृत अधिकारी व कर्मचारी, प्रधानमंत्री कार्यालय, केंद्रीय गृह मंत्रालय, वित्त, रक्षा, डाक विभाग, आपदा प्रबंधन और प्रारंभिक चेतावनी देने वाली एजेंसियां, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, भारतीय खाद्य निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों को अपना वैध पहचान पत्र दिखाने पर सीमा पार आवागमन की पहले की तरह अनुमति होगी। हालांकि इन्हें आरोग्य सेतु ऐप अपने मोबाइल में इंस्टॉल करना होगा और उसका प्रयोग करना होगा। प्रवेश करते समय सीमा पर इनकी थर्मल स्कैनिंग व रोग सूचक स्क्रीनिंग भी की जाएगी। जिन व्यक्तियों में संक्रमण के लक्षण दिखाई देंगे उनके लिए रैपिड टेस्टिंग सुविधा भी उपलब्ध रहेगी ताकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सके। 

    इनके लिए रहेगी राहत 
    भारत सरकार या हरियाणा सरकार के अधिकृत अधिकारियों की ओर से जिन्हें मूवमेंट पास जारी किए गए हैं, वे भी सीमा पार आ जा सकेंगे। इसी तरह ऐम्बुलेंस, एटीएम कैश वैन, एलपीजी, ऑयल कंटेनर, टैंकर को भी अनुमति होगी। सब्जियां, फल, अनाज, अंडे, मांस, मुर्गी, दूध, अनाज, दाल व अन्य खाने का सामान आपूर्ति करने वालों, पशुओं और मुर्गी पालन, सूअर पालन आदि के लिए हरा, सूखा चारा आपूर्ति करने वालों को आवागमन की अनुमति होगी। इसके साथ ही दवाओं, चिकित्सा उपकरणों व निर्माण के लिए आवश्यक कच्चा माल आपूर्ति करने वालों के साथ पीपीई किट, मास्क, दस्ताने, सैनिटाइजर, वेंटिलेटर और इसी प्रकार की वस्तुएं सप्लाई करने वालों को भी छूट रहेगी।


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.