Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    विधायक के पत्र पर हड़कंप, डीएम ने लिया एक्शन - हरदोई



    विधायक निधि की राशि में व्यय संबंधी विवरण न देने के कारण दो अधिकारियों पर गिरी गाज


    • विधायक के पत्र पर हड़कंप, डीएम ने लिया एक्शन
    • विधायक के पत्र पर हड़कंप, डीएम ने लिया एक्शन



    हरदोई।  विधानसभा गोपामऊ 157 से श्यामप्रकाश विधायक द्वारा बीते 16 अप्रैल को कोरोना महामारी से लड़ाई की मुहिम में सहयोग करने की दृष्टि से विधायक निधि से सीडीओ को लिखित पत्र के आधार पर दी गयी राशि का विवरण न उपलब्ध कराने के मामले को लेकर डीएम ने पत्र जारी कर जानकारी दी। जिलाधिकारी पुलकित खरे ने विधायक श्यामप्रकाश को संबोधित कर पत्र में लिखा कि विधायक निधि संबंधी राशि का उचित मद में व्यय करने का कार्य सीडीओ के स्तर से देखा जाता है।


    समयावधि के भीतर विवरण न प्रस्तुत किये जाने के विषय पर खेद व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि विधायक निधि से किए गए व्यय के विवरण में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए 04 अप्रैल को सीडीओ और वरिष्ठ कोषाधिकारी की कमेटी बनाई गई थी। जिसका मुख्य अध्यक्ष सीडीओ को ही बनाया गया था। कहा कि एक दैनिक अखबार में छपी खबर विधायक निधि से संबंधित नहीं थी। 03 अप्रैल को ऐड. संदीप सिंह द्वारा दिए गए शिकायती पत्र में मनमाने ढ़ंग से उक्त राशि का व्यय किये जाने का आरोप मुख्य चिकित्साधिकारी व जे.एन.तिवारी, चीफ फार्मासिस्ट, सीएमएसडी स्टोर पर लगाया गया था। जिसका संज्ञान लेते हुए तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश सीडीओ को दिए गए थे।


    जांच समिति के निष्कर्ष के अनुसार, इस व्यय में क्रय प्रक्रिया का अनुपालन नहीं किया गया है। आगे उन्होंने लिखा कि इस संबंध में मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि अब से नियमित तौर पर विधायक निधि के व्यय का विवरण विधायक श्यामप्रकाश को दिया जाए और उक्त प्रकरण के आधार पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई व चीफ फार्मासिस्ट के विरुद्ध निलंबन की कार्रवाई की संस्तुति शासन से कर दी गयी है।


    विधायक द्वारा राशि के व्यय संबंधी विवरण प्रस्तुत न किए जाने पर विधायक निधि की राशि वापस कर देने के लिए एक पत्र लिखा गया था। जिसके बाद हरकत में आए जिला प्रशासन ने विवरण न दिए जाने पर खेद व्यक्त करते हुए आदेश जारी किया कि अब से नियमित रूप से उन्हें व्यय का विवरण दिया जाएगा। साथ ही इस निधि से घोटाले की आशंका की सुई पर निगाह जमाकर प्रशासन ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी व चीफ फार्मासिस्ट के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश भी दे दिए।



    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.