Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सर्द हवाओं के साथ तेज बारिश से किसानों के चेहरों पर छाए मायूसी के बादल


    पिहानी,हरदोई- किसानों की जिन्दगी का सारा दारोमदार उनकी मेहनत से तैयार की हुई फसल पर निर्भर होता है।

    फसल अच्छी तो किसान सुखी होता है और फसली नुकसान किसान के जीवन में अन्धकार पैदा कर देता है,कहते हैं कि जब तक किसान की पकी फसल कटकर उनके घर न आ जाए उनके दिलों की धडकनें किसी आपदा अनहोनी की आशंका के विचारों से बढ़ी रहती हैं।
    Sard-havaao-ke-sath-tej-baarish-se-kissano-ke-chehre-par-chaaye-maayusi-ke-baadal
     सर्द हवाओं के साथ तेज बारिश से किसानों के चेहरों पर छाए मायूसी के बादल
    इस समय जहाँ एक ओर गेहूं की पकी फसल खेतों में खड़ी या कटी पड़ी है वहीं करवट बदलते मौसम ने किसानों के दिलों की धडकनें तेज कर दी हैं।बीते बुधवार को दिन में तेज और सर्दीली हवाओं ने फसली नुकसान के जोखिम बढ़ा दिए तो वहीं आधी रात में सर्द हवाओं के साथ तेज बारिश ने फसल को खासा नुकसान भी पहुंचाया है। जिससे किसानों के चेहरों पर मायूसी के बादल छा गए हैं।इस समय गरमी के मौसम में खेतों में पड़ी-खड़ी किसानों की फसलों को बारिश के चलते हो रहे नुकसान का जोखिम किसानों पर भारी पड़ रहा है।

    बारिश और हवाओं के झरोखों ने फसल की कटाई को प्रभावित कर दिया है।खेतों में पकी खड़ी फसल की कटाई भी बारिश के पानी से भीगने के कारण रुक गई है।
    रिपोर्ट- अतुल मिश्रा 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.