Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    भाजपा अपनी सत्ता नहीं बचा पाएगी ,चाहे अपने कितने भी चौकीदार लगा ले:- मायावती


    कछौना (हरदोई):- मिश्रिख लोकसभा में गठबंधन प्रत्याशी डॉक्टर नीलू सत्यार्थी के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री व बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि कांग्रेस ने लंबे अरसे तक राज करने के बाद भी गरीबी व बेरोजगारी नहीं दूर की। जिसके कारण बीएसपी का गठन किया गया। हरदोई जिला काफी पिछड़ा है। कांग्रेस सरकार की गलत नीतियों के कारण व रोजी-रोटी के साधन उपलब्ध न होने के कारण जनता को रोजगार के लिए बाहर पलायन करना पड़ता है।
    Bhajpa-apmni-satta-nahi-bacha-payegi-chahye-apne-kitne-bhi-chaukidaar-laga-le-mayavati
    भाजपा अपनी सत्ता नहीं बचा पाएगी ,चाहे अपने कितने भी चौकीदार लगा ले:- मायावती 
    वर्तमान सरकार भारतीय जनता पार्टी के अच्छे दिन आ गए लेकिन आमजनमानस के अच्छे दिन अभी तक नही आये। बीजेपी व आरएसएस जातिवादी, पूँजीवादी, सांप्रदायिक हैं,यह पार्टी जल्दी ही कांग्रेस की तरह बाहर चली जाएगी। जनता इनकी जुमलेबाजी को अच्छी तरह समझ चुकी है। इनकी सरकार में सभी वर्ग परेशान रहे हैं। इन्होंने केवल पूंजीवादियों को लाभ दिया है।

    किसान विभिन्न प्रकार की समस्याओं के कारण पूरी तरह से टूट चुका है। छुट्टा आवारा पशुओं के कारण किसान बर्बाद हो रहा है। सरकारी नौकरियों में दलितों के लिए आरक्षण खत्म करने की योजना है। नोटबंदी व जी०एस०टी० के कारण बेरोजगारी में इजाफा हुआ है। जिसका अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है।

    वर्तमान सरकार में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर रहा है। यहां तक रक्षा सौदों में कांग्रेस के बोफ़ोर्स घोटाला व कथित राफेल घोटाला हुआ है। आतंकवाद की समस्या बढ़ी है। देश के सैनिक आए दिन शहीद हो रहे हैं। राजनीतिक लाभ के लिए सीबीआई व अन्य एजेंसियों का प्रयोग किया जा रहा है। विरोधी पार्टियों को सजग रहने की आवश्यकता है। इनका घोषणा पत्र केवल जुमलेबाजी तक ही सीमित है। किसान सम्मान निधि के नाम पर 6000 रुपये वार्षिक किसानों का मजाक है। यह केवल चुनावी स्टंट है ।

    हमारी पार्टी की नीति “सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय” है । जब तक हर हाथ को रोजगार नहीं मिलेगा, तब तक देश से गरीबी दूर नहीं हो सकती है। हमारी प्राथमिकता समाज के दबे कुचले लोगों को मुख्यधारा से जोड़ने की है। पूर्व विधानसभा चुनावों में ईवीएम मशीन में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी के कारण काफी प्रत्याशी हार गए थे। जबकि पूर्व में बैलेट पेपर से चुनाव होने के कारण हरदोई की सभी विधानसभाओं में बी०एस०पी० पार्टी की विजय हुई थी।

    इस जनसभा में बहुत बड़ी संख्या में पुरुषों व महिलाओं ने प्रतिभाग किया। महिलाओं की संख्या भी बहुत अधिक थी। अपनी नेता बहन मायावती को सुनने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा था। मायावती ने गठबंधन के दोनों प्रत्याशी मिश्रिख प्रत्याशी डॉ० नीलू सत्यार्थी व हरदोई की प्रत्याशी उषा वर्मा को इस जनसभा के माध्यम से जिताने की अपील की।

    इस विशाल जनसभा में बसपा सुप्रीमो मायावती, मायावती के भतीजे आकाश आनंद, सतीश चंद्र मिश्रा, सांसद भीम राव अम्बेडकर, जोनल इंचार्ज अखिलेश अंबेडकर, मिश्रिख प्रत्याशी डॉ० नीलू सत्यार्थी, हरदोई प्रत्याशी ऊषा वर्मा, पूर्व कैबिनेट मंत्री अब्दुल मन्नान, पूर्व विधायक बब्बू खां, पूर्व मंत्री रामपाल राजवंशी, युवा नेता सुभाष पाल, जिला पंचायत सदस्य सुरेंद्र कुमार, जिला पंचायत सदस्य मोहम्मद अयूब, बसपा जिला अध्यक्ष मेवाराम वर्मा, सपा जिलाध्यक्ष शराफत अली, अमर सिंह जिला प्रभारी, सपा नेता जितेंद्र कुमार जीतू व अलंकार सिंह, राम गोपाल कुशवाहा, बसपा नेता मोहम्मद तैयब, रंजीत राव गौतम, विनीत लाला, ग्राम प्रधान राजेंद्र गौतम, सपा ब्लॉक अध्यक्ष जमील अहमद, विधानसभा प्रभारी अजीम हैदर, डॉ० साहब लाल, डॉ०बी०डी० कुरील, सुरेश चौधरी सहित सैकड़ों की संख्या में पदाधिकारी गण मौजूद रहे।
    विजयारती 
    INITIATE NEWS AGENCY

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.