Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    20 मिनट में हजारो बीघा गेहूं की फसल जलकर हुई राख


    शाहाबाद- तपिश बढ़ने से शाहाबाद  क्षेत्र के खेतों में आग लगने की घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया है। 
    20-Minute-me-hajaaro-bighaa-genhuu-ki-fasal-jalkar-hui-raakh
    20 मिनट में हजारो बीघा गेहूं की फसल जलकर हुई राख
    शनिवार दोपहर में शाहाबाद क्षेत्र के गांव नर्सियामऊ जसविंदर सिंह गांव नर्सियामऊ पिता का नाम रिसिपाल सिंह दिलबाग सिंह और हरविंदर सिंह  के झाला के पास कटी हुई गेहूं की फसल में अचानक आग लग गई और देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। आग से हजारो बीघा गेहूं की फसल जलकर राख हो गयी। परिवार के पालन पोषण का प्रमुख साधन गेहूं की फसल पल भर में राख होने से गरीब किसानों की आंखों के सामने अंधेरा छा गया। किसानो ने बताया कि इसी गेहूं की फसल से ही सालभर उनके घरों में चूल्हा जलता था। 
    20 मिनट में हजारो बीघा गेहूं की फसल जलकर हुई राख
    लेकिन कुदरत की मार ने उन पर कहर बरपा दिया। ग्रामीणों के सहयोग से कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। जिले में इस बार आग ने ऐसी तबाही मचाई है कि बेचारे किसान खून के आंसू रोने पर मजबूर हो गए हैं।अपने हाड़ मांस गलाकर अपना चैनों सुकून त्यागकर अपनी एक एक पाई लगा कर या कर्ज लेकर फसल तैयार करता है और वही फसल आग की एक चिंगारी उनके सारे अरमान और खुशियों पर पानी फेर जाती है।


    शनिवार को पाली इलाके में आग ने ऐसी विनाशलीला मचाई है कि सैकड़ो किसान अपने जले हुए खेतो को देखकर ह्रदयविदारक बिलाप कर रहे हैं।पाली इलाके के परेली से लगी आग ने शाहाबाद इलाके के बेहटा गोकुल तक के सैकड़ो गांवो को अपनी चपेट में लेते हुए लगभग पांच हजार बीघा फसल राख कर दी।आग की शुरुआत परेली गांव के पास ही खेतों में पंजाबी लोग अपना झाला बनाकर रहते हैं।उन्हीं में से दोपहर के समय जसपाल के खेत मे पड़े भूसे के ढेर से पता नही कैसे आग लग गई।प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जिस समय आग लगी इस समय विधुत आपूर्ति बंद थी। आग के स्पष्ट कारणों का पता नही लग पाया है।कुछ किसानों का आरोप है कि हो सकता है कि कुछ खेतों में काम करने वाले  मजदूरों ने बीड़ी पीकर फेकने की बजह से आग लगी है ।

    भीषण आग लगने से सारे इलाके में अफरातफरी मच गई।किसानों ने अपनी जान की परबाह किये बगैर आग पर काबू करने का प्रयास किया पर हबा के  तेज बेग के कारण काबू करने में असफल रहे।हमेशा की तरह इस बार भी प्रशासन की लापरवाही व उदाशीनता खुलकर सामने आई है ।आग लगने के बाद काफी समय तक कोई भी मदद मौके पर नही पहुंची।शाम के समय भाजपाई नेता पहुंचे,विधायिका भी शाम के वक्त मौके पर पहुँच कर पीड़ितों को उक्त सहायता का आश्वाशन दिया

    इस आग ने पांच हजार बीघा फसल के साथ साथ तीन ट्रैक्टर व एक मोटरसाइकिल भी जलकर नष्ट हो गई,आग परेली के पहाड़पुर ,पिपरोला,खेमपुर,घुराई,दरियापुर,मुडरूखेड़े,नरसियामऊ,गोपालपुर,रसूलपुर,ददेउरा,से होते हुए बेहटागोकुल के जंगल तक बढ़ गई।
    शुभम दीक्षित 
    INA न्यूज़ 



    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.