Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    प्रियंका से मिल प्रेरकों ने की घोषणा पत्र में शामिल करने की मांग


    रायबरेली- मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार से संचालित साक्षर भारत मिशन में चयनित 26 प्रांतों के 5 लाख शिक्षा प्रेरकों की सेवा बहाली और बकाया मानदेय भुगतान की मांग को लेकर राष्ट्रीय साक्षरता कर्मी महासंघ के प्रतिनिधिमंडल ने बृहस्पतिवार को कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात कर अपना मांग पत्र सौंपा। 
    Priyanka-se-mil-prerako-ne-ki-ghoshna-patr-me-shammil-karne-ki-maang
    प्रियंका से मिल प्रेरकों ने की घोषणा पत्र में शामिल करने की मांग
    भुएमऊ गेस्ट हाउस में मुलाकात के दौरान महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष अकमल खान एवं प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार सिंह ने श्रीमती गांधी से प्रेरकों की समस्याओं के समाधान हेतु उन्हें कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करने की मांग उठाई। जिस पर कांग्रेस महासचिव ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों को प्रेरकों की समस्याओं को नोट कराया और मांग पत्र को घोषणा पत्र समिति को सौंपते हुए इसे अपने चुनावी एजेंडे में शामिल कराने के निर्देश दिए। 

    महासंघ ने प्रियंका को बताया प्रेरक यूपीए सरकार में साल 2009 में ग्राम पंचायत स्तर पर चयनित हुए थे। जिन्हें ₹2000 मासिक मानदेय दिया जा रहा था । लेकिन 40 माह का मानदेय सरकार ने भुगतान नहीं किया और 1 अप्रैल 2018 से सभी की सेवाएं भी रोक दी हैं। जिससे देशभर के साक्षरता कर्मियों में भाजपा सरकार के प्रति गहरा आक्रोश है। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी प्रेरकों के मुद्दे को अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करती है तो देशभर में 5 लाख शिक्षा प्रेरक 35 लाख स्वयंसेवकों के सहयोग से कांग्रेस को जिताने का काम करेंगे। 

    इस अवसर पर मुख्य रूप से जिला उपाध्यक्ष किरन मिश्रा, जिला कोषाध्यक्ष दिलीप कुमार सोनकर, जिला महामंत्री पवन यादव, राम लखन मौर्य, अमर कुमार चौधरी,  हेमेंद्र प्रताप सिंह उर्फ हेमू आदि उपस्थित रहे।
    रिपोर्ट-धर्मेंद्र सिंह 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.