Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बाल विद्या भवन परिसर में आध्यात्मिक होली महोत्सव का हुआ आयोजन


    हरदोई- नघेटा रोड स्थित बाल विद्या भवन परिसर में आध्यात्मिक होली महोत्सव समिति के तत्वावधान में आयोजित आध्यात्मिक होली महोत्सव कार्यक्रम में आज परम् श्रध्देय  किरीट जी हरदोई पधारे व भक्तो द्वारा गुरु जी का स्वागत फूल माला से किया गया।
    बाल विद्या भवन परिसर में आध्यात्मिक होली महोत्सव का हुआ आयोजन 
    इस के पश्चात सायं 4 बजे से सजीव अग्रवाल के निवास पर पत्रकार वार्ता हुई बाल विद्या भवन में भक्तों को होली का महत्व बताते हुए परम श्रद्धेय किरीट भाई जी ने बताया कि होली प्रेम एवं सद्भावना का पर्व है,आज के समय मे धोखा ही शुद्ध है बाकी सब मिलावट ही मिलावट है,होली का त्योहार हमें बतलाता है कि व्यक्ति का आनन्द स्वतंत्र होना चाहिए, आनंद पर किसी प्रकार का प्रतिबंध नही होना चाहिए।

    ये पर्व सब को बड़े ही उत्साह के साथ मानना चाहिए होली के उत्सव में उत्साह नहीं है तो यह नीरस हो जाता है,जीवन को रंगों से भरा हुआ होना चाहिए यदि जीवन में रंग नहीं है तो जीवन रंग हीन हो जाता है प्रत्येक त्यौहार हमारे जीवन में संस्कार डालता है और यही संस्कार हमारे संतानों में जाते हैं।
    Ball-vidya-bhavan-parisar-me-adhyatmik-holi-mahotsav-ka-hua-aayojan
    बाल विद्या भवन परिसर में आध्यात्मिक होली महोत्सव का हुआ आयोजन 
    आजकल सब लोग कहते हैं कि हमारी संतानें बिगड़ रही उन अभिभावकों को हमारा यही संदेश है किस संतान को प्रेम मिले वात्सल्य मिले उनके साथ बैठे हैं और भोजन करें तो संतान को अकेलापन नहीं लगेगा और जो संतान अकेली नहीं रहेगी वह मोबाइल टेलिविजन आदि में अपना समय नहीं व्यतीत करेंगे अपने बच्चों को संस्कार देने के लिए अपने बच्चों की गतिविधियों पर नजर रखें। आज के व्यस्त जीवन में जहां माता-पिता दोनों ही कामकाजी हैं, बच्चों की हर एक गतिविधि पर पूरा ध्यान दे पाना थोड़ा मु‍श्किल हो जाता है। चाहे आप काम के सिलसिले में बाहर रहें या घर पर, बच्चों को मनमानी करने से हमेशा रोकें या उनमें यह आदत डालें कि वे आपकी सहमति से ही कोई काम करें।
    बाल विद्या भवन परिसर में आध्यात्मिक होली महोत्सव का हुआ आयोजन 
    आज परिवार का दायित्व है कि वह अपने संतान को ठीक संस्कार दें संतान जैसा मां बाप को देखती है वैसा ही आचरण और वैसा ही व्यवहार करने लगती है,भाई जी ने बताया होली पर्यावरण को ध्यान रखते हुए पानी और रंग की अपेक्षा फूलों से खेली चाहिए जिससे कि वातावरण भी स्वच्छ रहता है,पर्यावरण को स्वच्छ रखने से मन भी सुंदर हो जाता है । 

    आज के कार्यक्रम में गुरुवंदना आज के कार्यक्रम में मुख्य रूप से आलोक कपूर सजीव अग्रवाल, मुकेश अग्रवाल, कामिनी अग्रवाल, अनूप पुरी, गिरीश डिडवानिया,अखिलेश सिंह,नरेश गोयल, केके अवस्थी, सत्येंद्र गुप्ता, अपूर्व माहेश्वरी, शानू महेंद्रा, अर्चना कपूर, सोनी पुरी, दीपक महेन्द्रा, सन्तोष भाई जी, नवल , विमलेश दीक्षित, संजीव दीक्षित, प्रभाकर पाण्डेय,प्रभाकर गुप्ता, नितिन तिवारी, विनीता पाण्डेय,व मनीष चतुर्वेदी मौजूद रहे। 

    विजय लक्ष्मी सिंह (विजयारती) 
    Initiate News 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.