Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कोविंद, मोदी ने फर्नाडिज को श्रद्धांजलि दी


    नई दिल्ली, 29 जनवरी- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी सहित कई नेताओं ने पूर्व केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस के निधन पर दुख जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

    लंबे समय से बीमार फर्नाडिस का मंगलवार को निधन हो गया। वह 88 साल के थे। मोदी ने फर्नाडिस को एक तेजतर्रार श्रमिक नेता बताया जिन्होंने आपातकाल का पुरजोर विरोध किया जबकि कोविंद ने उन्हें 'लोकतंत्र का चैंपियन' बताया। 
    Kovind-modi-me-farnaandies-ko-shradhanjali-dii
    कोविंद, मोदी ने फर्नाडिज को श्रद्धांजलि दी
    राष्ट्रपति ने कहा कि वह रेल और रक्षा मंत्री सहित विभिन्न पदों पर देश की सेवा करने वाले फर्नाडिस के निधन की खबर सुनकर दुखी हैं।उन्होंने कहा, "उन्होंने सादा जीवन और उच्च विचार को महत्व दिया और आपातकाल और उसके बाद भी लोकतंत्र के चैंपियन के रूप में उभरे। हम सभी उन्हें याद करेंगे।"मोदी ने कहा कि पूर्व मंत्री ने भारत के राजनीतिक नेतृत्व का सर्वश्रेष्ठ प्रतिनिधित्व किया।

    उन्होंने एक ट्वीट में कहा, "स्पष्ट और निडर, बेबाक और दूरदर्शी। उन्होंने हमारे देश के लिए अपना बहुमूल्य योगदान दिया। वह गरीबों और हाशिए पर रह रहे लोगों के अधिकारों की सबसे प्रभावी आवाजों में से एक थे। उनके निधन से दुखी हूं।"वहीं, राहुल गांधी ने फेसबुक पर लिखा, "पूर्व सांसद और केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। इस दुख की घड़ी में उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनाएं।"गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्विटर पर लिखा, "उन्होंने कई श्रम आंदोलनों का नेतृत्व किया और श्रमिकों के साथ होने वाले अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ी.. उनकी आत्मा को शांति मिले।"

    पूर्व जनता दल यूनाइटेड (जदयू) प्रमुख शरद यादव ने फर्नांडिस को 'एक दुर्लभ नेता के रूप में याद किया' जिन्होंने वर्षों तक मेहनतकश लोगों की लड़ाई लड़ी।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी ट्वीट कर कहा कि वह फर्नाडिस के निधन से दुखी हैं।परिवार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि फर्नाडिस अल्जाइमर रोग से पीड़ित थे और पिछले आठ सालों से बिस्तर पर थे।

    फर्नाडिस ने बॉम्बे टैक्सी यूनियंस एसोसिएशन का नेतृत्व करने के बाद ख्याति प्राप्त की और फिर उन्होंने 1967 के आम चुनाव में कांग्रेस नेता एस.के. पाटिल को शिकस्त दी।

    इसके बाद फर्नाडिस जनता दल में शामिल हुए। वह 1989 से 1990 में वी.पी. सिंह की सरकार में रेल मंत्री रहे। 1994 में उन्होंने समता पार्टी की स्थापना की।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.