Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जुमलों की सरकार को जनता जवाब देगी - ओमप्रकाश रावत


    हरदोई (सण्डीला)- कांग्रेस पार्टी में जमीनी स्तर पर कार्य करने वाली प्रियंका गांधी के राजनीति में आने से विपक्षी दल बौखला सा गए है

    यह बात मिश्रिख लोक सभा के कांग्रेस पूर्व प्रत्याशी ओम प्रकाश रावत ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य एवं जिला महासचिव महताब अहमद के आवास पर कही उन्होंने बताया कि केंद्र की भाजपा सरकार से सभी वर्ग त्रस्त हो चुके है किसान युवा परेशान है 
    Jumalo-ki-sarkar-ko-janta-javaab-degi-ompraksah-raavat
    जुमलों की सरकार को जनता जवाब देगी - ओमप्रकाश रावत 
    किसान की चिंता न तो केंद्र सरकार को रही है और न ही उत्तर प्रदेश सरकार को रही है किसान बेमौत मरने पर उतारू हो चुका है कांग्रेस की सरकार ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू करवा कर गरीब जनता को दो वक्त की रोटी का इंतजाम किया था परन्तु गैर कांग्रेसी सरकारों ने वास्तव में जो गरीब है उसका भी हक़ छीन लिया है और गेहूं चावल एवं मिट्टी का तेल भी गरीबों को नही मिल पा रहा है गरीब जनता प्रत्येक माह अपने अपने आधार कार्ड लेकर कोटेदारों के पास जमा भी कर देता है परन्तु अभी तक गरीबों के यूनिट नही बढ़ पा रहे है न तो अभी तक लोगों को राशन कार्ड भी उपलब्ध हो सके है

    प्रधानमंत्री आवास योजना में भी जबरदस्त धांधली चल रही है 2014 के लोक सभा चुनाव में मुख्य एजेंडा गरीब जनता के खाते में 15 लाख का जुमला अभी तक लोगों के दिलों में छाया हुआ है अब प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने से सभी दल बौखला गए है सण्डीला की सबसे अहम समस्या है एक ओवर ब्रिज जो अभी तक नही बन सका है दूसरी समस्या है मुंसिफ कोर्ट की जो भट पुर से आम जनता जब हरदोई कचहरी अपनी तारीख करने जाता है तो उसको लौटने में दो दिन लग जाते है फैक्ट्रियां बन्द पड़ी है रोजगार बन्द हो चुके है सण्डीला में सबसे ज्यादा बीड़ी एवं आरी जरदोजी का कार्य चलता था परन्तु वो लोग भी भुखमरी के कगार पर पहुचं चुके है केंद्र की भाजपा सरकार ने जनता को दुख दर्द के अलावा कुछ नही दिया है उत्तर प्रदेश की सबसे पुरानी तहसील सण्डीला है इसके बाद की तहसीलों को जिला बना दिया गया परन्तु सण्डीला को जिला नही बनाया गया क्या कारण रहा सण्डीला से हरदोई की दूरी 56 किलोमीटर है और लखनऊ भी लगभग 56 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और जो सुविधाएं सण्डीला को मिलनी चाहिए थी वह सुविधाएं सण्डीला को नही मिल पा रही है

    जबकि सण्डीला को इंडस्ट्रियल एरिया भी घोषित कर रखा है कांग्रेस से सण्डीला में कताई मिल जैसी सौगात दी थी जिसमे सण्डीला के स्थानीय लोगों ने कार्य भी किया था उनको भी बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है ।

    फैयाज़ुद्दीन सागरी 
    स्वतंत्र उजाला & INA न्यूज़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.