Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मिजोरम में 3 घंटे में 25 फीसदी मतदान

     

    आइजोल, 28 नवंबर- मिजोरम में विधानसभा चुनाव के लिए हो रहे मतदान में तेजी देखने को मिल रही है। बुधवार को पहले तीन घंटे में 7.68 लाख मतदाताओं में से करीब 25 फीसदी मतदाताओं ने मतदान कर दिया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। 

    mizoram-me-3-ghante-me-25-fisdi-matdan-
    मिजोरम में 3 घंटे में 25 फीसदी मतदान
    पारंपरिक परधिना पहने पुरुष व महिला मतदाता सभी जिलों में मतदान केंद्रों के बाहर कतार में खड़े देखे जा सकते हैं। मतदान प्रक्रिया सुबह सात बजे से शुरू हुई।उप अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी सी.सी. लालचुआंगकिना ने सभी आठ जिलों के रिपोर्ट का जिक्र करते हुए फोन पर आईएएनएस को बताया कि सुबह 10 बजे तक 7,68,181 में से करीब 25 फीसदी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके हैं। 

    उन्होंने कहा, "अनुकूल स्थिति और अनुकूल मौसम से लोगों को उनके मताधिकार का प्रयोग सहजता से करने में मदद मिली है।लालचुआंगकिना ने कहा कि कुछ ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों) के अलावा - वीवीपीएटी (वोटर्स वेरिफाइबल पेपर ऑडिट ट्रेल) डिवाइस खराब होने को छोड़कर अब तक किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है।

    उन्होंने कहा, "पिछले चुनावों की तरह, मतदान पूरी तरह से शांतिपूर्ण है। चूंकि, मिजो समाज बहुत अनुशासित है और चर्च के निर्देशों पर चलता है, इसलिए चुनाव हमेशा से अप्रिय घटना से मुक्त रहा है।मतदान प्रक्रिया शाम चार बजे तक चलेगी।म्यांमार (510 किलोमीटर) और बांग्लादेश (318 किलोमीटर) की सीमाओं से सटा पहाड़ी राज्य मिजोरम आठ पूर्वोत्तर राज्यों में कांग्रेस का अंतिम गढ़ है

    मौजूदा मुख्यमंत्री व पार्टी के प्रदेश अध्यत्र ललथनहावला लगातार तीसरे कार्यकाल के लिए उम्मीद पाले हैं। उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री जोरामथंगा की अगुवाई वाली मुख्य विपक्षी मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) से कड़ी चुनौती मिल रही है।कांग्रेस और एमएनएफ दोनों ने 40 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराने की कोशिश कर रही है और इसने 39 उम्मीदवार उतारे हैं। 

    भाजपा और कांग्रेस दोनों राष्ट्रीय पार्टियों के अलावा कई क्षेत्रीय एवं स्थानीय पार्टियां ने भी 40 सदस्यीय विधानसभी सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों को उतारा है। इनमें मिजो नेशनल फ्रंट (एनएनएफ), पीपुल्स रिप्रेजेंटेशन फॉर आइडेंटिटी एंड स्टेटस ऑफ मिजोरम (पीआरआईएसएम), जोरम पीपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) और नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) शामिल हैं।

    राज्य में कुल 768,181 मतदाताओं में से 393,685 महिलाएं और 3,74,496 पुरुष मतदाता हैं। ये मतदाता 209 उम्मीदवारों के किस्मत का फैसला करेंगे। इन उम्मीदवारों में से 15 महिलाएं हैं।निर्वाचन आयोग ने कन्हमुन में 15 विशेष मतदान केंद्र बनाए हैं, जिससे रीआंग जनजाति के शरणार्थी मतदान कर सकें, जिन्होंने पिछले 21 सालों से त्रिपुरा में शरण ले रखी है। यह गांव मिजोरम-त्रिपुरा की सीमा पर स्थित है। 

    इस चुनाव में 35,000 से अधिक अप्रवासी जनजातिय लोगों में से 11,232 मतदान करने के पात्र हैं।मिजोरम के संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी जोराम्मुआना ने आईएएनएस को बताया कि विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बांग्लादेश और म्यांमार के साथ लगी मिजोरम की सीमाओं पर कड़ी सुरक्षा बनाए रखने के लिए सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और असम राइफल्स के जवानों को तैनात किया गया है।मतगणना 11 दिसंबर को होगी।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.