Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    एसडीएम की पत्नी की डिलीवरी के बाद डीएम और उनकी पत्नी अस्पताल पहुंचे


    शाहजहाँपुर- यूपी के शाहजहाँपुर में सरकारी अस्पताल में एसडीएम की पत्नी की डिलीवरी के बाद डीएम और उनकी पत्नी अस्पताल बधाई देने पहुंचे। तभी डीएम ने अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। डीएम ने महिला जर्नल वार्ड पहुंचे जहां उनको शौचालय में बहुत गंदगी मिली। 

    SDM-ki-patni-ki-delivery-ke-baad-Dm-aur-unki-patni-aspataal-panhuche
     एसडीएम की पत्नी की डिलीवरी के बाद डीएम और उनकी पत्नी अस्पताल पहुंचे 
    जिसे देखकर डीएम ने महिला सीएमएस को जमकर फटकार लगा दी। साथ ही सीएमओ को फोन पर फटकार लगाते हुए रात मे ही जिला अस्पताल बुलाने का फरमान सुना दिया,वही गंदगी देखकर डीएम ने सीएमएस से कहा कुर्सी लेकर आइए और इस गंदगी में बैठकर चर्चा करते हैं। देखते हैं कि हम और आप इस गंदगी में कितनी देर बैठ सकते हैं। दोबारा ऐसी गंदगी मिलने पर कार्यवाई की चेतावनी दी है।

    दरअसल हुआ ये कि देर रात जब डीएम अमृत त्रिपाठी और उनकी पत्नी एसडीएम से मिलने डीएम जिला अस्पताल पहुंचे। डीएम की पत्नी एसडीएम की पत्नी से मिलने उनके रूम में चली गई,डीएम ने अपने ड्यूटी निभाते हुए महिला जर्नल वार्ड की ओर चल दिए। महिला अस्पताल के शौचालय में पहुंचे तो वहां पर ब्लड से सने कपड़े पड़े थे और शौचालय मे काफी गंदगी फैली थी,जिसे देखकर डीएम काफी नाराज हुए और महिला सीएमएस से कहा कि दो कुर्सियां लेकर आओ ओर इस गंदगी में बैठकर चर्चा करते है, देखते हैं कि हम और आप कितनी देर इस गंदगी मे बैठ सकते है,डीएम ने कहा कि आखिर ये तीमारदार कैसे यहां पूरी रात गुजारते होंगे,डीएम ने तभी सीएमओ आरपी रावत को फोन लगा दिया और जमकल फटकार लगाते हुए तत्काल जिला अस्पताल आने का फरमान सुना दिया।

     एसडीएम की पत्नी की डिलीवरी के बाद डीएम और उनकी पत्नी अस्पताल पहुंचे 
    उसके बाद डीएम कहते हुए वहां से निकले कि एसडीएम की पत्नी अस्पताल मे भर्ती है उसका कुछ तो फायदा यहां के मरीजों को होना चहिए। डीएम ने वार्ड में सभी मरीजों से अलग अलग खानपान के बारे मे पूछा तो किसी ने कहा कि खाना मिलता है तो किसी ने कहा कि सिर्फ दाल रोटी मिलती है। इतने में एक तीमारदार आया और कहने लगा कि यहां सभी शौचालयों में ताले पड़े हैं। ये सुनकर डीएम ताले पड़े शौचालय चेक करने पहुंच गए। जहां पर शौचालय के गेट पर ताले लटके मिले। फिर डीएम की नाराजगी का सामना सीएमएस को करना पड़ा और डीएम ने तत्काल शौचालय खोलने और उसमे सफाई कराने के आदेश दिए। डीएम ने माना कि जिला अस्पताल को यहां के कर्मचारियों और अधिकारियों ने मजाक बना कर रख दिया है,डीएम ने आदेश दिया है कि कल से रोज सीएमओ, डिप्टी सीएमओ और सीएमएस निरीक्षण करेंगे,अगर ऐसा नहीं होता है कड़ी कार्यवाही के लिए तैयार रहे।

    रिपोर्ट- अदनान अफाक 
    INA न्यूज़ ब्यूरो चीफ पीलीभीत 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.