Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    एन डी आर एफ की टीम ने आपदा से लड़ने एवं जीवन बचाने के उपाय बताए


    शाहाबाद (हरदोई) - नेहरू म्यु. कन्या इण्टर कालेज के प्रांगण में एन डी आर एफ की टीम ने दैवी आपदा से लड़ने व जीवन रक्षा के गुर सिखाए,ग्यारहवीं एन डी आर एफ वाराणसी के उप महानिरीक्षक आलोक कुमार सिंह के दिशा निर्देश में ,क्षेत्रीय प्रतिक्रिया केंद्र, लखनऊ की टीम कमान्डर अब्दुल्ला खां के नेतृत्व में आज नेहरू म्यु.कन्या इण्टर कालेज में एन डी आर एफ की टीम के उप कमांडर शेर सिंह,रेस्क्यूअर आदित्य कुमार, उमेश अवस्थी,मधुराज यादव,हंसराज गुज्जर,राजीव कुमार, सज्जाद खां, आदि ने बाढ़ से पूर्व, पश्चात,बाढ़ के दौरान जीवन बचाने के तरीके ,प्रयोग करके दिखाए।टीम ने भूकंप का परिचय कराते हुए बताया कि चट्टानों के घर्षण से भूकम्प आता है।

    NDRFki-team-ne-aapda-se-ladne-evam-jeevan-bachane-ke-upaay-baatyien
    एन डी आर एफ की टीम ने आपदा से लड़ने एवं जीवन बचाने के उपाय बताए
    ज्यादातर भूकंप एक डिग्री सेल्सियस की तीव्रता से ही आये।छः डिग्री से अधिक की तीव्रता वाला भूकंप सबसे खतरनाक होता है।ऐसी स्थिति में खुले में पहले से ही सेफ्टी जोन तय हो।जहाँ पेंड़ ,भवन आदि न हों।उनका सुझाव था कि भवनों में भूकंप का अलार्म भी हो।उन्होंने भूकंप से बचने के लिए विविध तरीके प्रयोग कर बताये।घरेलू उपाय में लाइफ जैकेट,लाइफ बॉय,का उपयोग बताया।संकट में वैकल्पिक प्रयोग सिखाये।आपदा के समय बोतलों,मटका व जरीकेन का प्रयोग भी समझाया।कम्बल,रस्सी,बांस,व बोरी से इम्प्रोवाइज स्ट्रक्चर तैयार करना सिखाया।आकस्मिक आपदा में घायलों तक,तय जगह पहुंचना,व घायल को सुरक्षित जगह पर लाने के उपाय भी बताए।इसके अलावा मार्ग दुर्घटना, दिल के दौरा, से बचने के भी प्रदर्शन किये।कंट्रोल ब्लीडिंग,सी पी आर,हेड इंजरी,एवं अन्य प्रकार की चोटों का भी प्राथमिक उपचार करना सिखाया।

    इस अवसर पर उपजिलाधिकारी श्रद्धा शांडिल्यायन ने कहा कि देवी आपदा प्रबंधन के गुर सभी को आने चाहिए।विभिन्न पाठ्यक्रमों में इस विषय को सम्मिलित भी किया गया है।जीवन रक्षा के लिए घरेलू और तात्कालिक प्रयोग बहुत कारगर सिद्ध हुए हैं।उन्होंने एन डी आर एफ टीम की मुक्त कंठ से प्रशंसा की,विषय विशेषज्ञ अम्बरीष कुमार सक्सेना ने आपदा का मानव जीवन पर प्रभाव एवं परिणाम के विषय मे बताते हुए , प्राकृतिक आपदाओं को बड़ा संकट बताया।ऐसे संकटों का सामना करने के लिए साहस व धैर्य के साथ उपाय तलाशने पर जोर दिया।जनहानि कम हो और राहत एवं बचाव कार्यों में सुविधा रहे।

    आपदा प्रबंधन से बचाव का प्रदर्शन का अवलोकन तहसीलदार अवधेश कुमार,कानूनगों ऋषी दीक्षित, ब्रजेश दीक्षित,शिक्षिका भैरवी अग्निहोत्री, शशी शुक्ला, नायाब जहां,जिया खान,अंसार हुसेन,कमलेश अग्निहोत्री, मिथलेश त्रिवेदी,बीएलओ कोतिका,अंजुम आरा ने किया।अम्बरीष कुमार सक्सेना के संचालन में राष्ट्रीय आपदा बचाव दल के माध्यम से स्कूल सेफ्टी प्रोग्राम पर विशेष प्रदर्शन व अभ्यास किये गए।तथा छात्राओं को जागरूक किया गया।

    विजय लक्ष्मी सिंह "वैदेही"
    INA न्यूज़  एडिटर इन चीफ 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.