Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पुलिसकर्मियों द्वारा खुदकुशी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही।

    हरदोई- तनाव व अन्य समस्याओं के चलते पुलिसकर्मियों द्वारा खुदकुशी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही। यूपी में आये दिन कहीं न कहीं ऐसी घटनाएं सुनने को मिल रही हैं। ताज़ा मामला हरदोई जिले का हैं यहां एक सिपाही ने अपने आवास में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने एसपी समेत जिले के पुलिस महकमे के आला अफसर मौके पर पहुंच गए। 

    pulishkarmiyo-dawara-khudkushi-ki-ghatnai-thamne-ka-nam-nahi-le-rahi
    पुलिसकर्मियों द्वारा खुदकुशी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही। 
    पुलिस सूत्रों की माने तो घटना के कारणों की जांच की जा रही हैं। प्रथम दृष्टया खुदकुशी की बजह स्पष्ट नही हो सकी थी। लेकिन पुलिस सूत्रों के मुताबिक आत्महत्या करने से पहले सिपाही के मोबाइल फोन पर एक कॉल आई थी जिसके बाद सिपाही ने यह आत्मघाती कदम उठाया। 

    उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले के भोगांव के रहने वाले संदीप यादव पुलिस विभाग में कांस्टेबिल थे। वर्तमान में वह हरदोई पुलिस लाइन से सम्बद्ध थे। शनिवार की दोपहर को संदीप ने गमछे से अपने आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जैसे ही यह खबर पुलिस लाइन में फैली तो हड़कम्प मच गया। संदीप यादव की 2014 में शादी हुई थी। उनकी पत्नी नीतू और दो बेटियां हैं। मिलनसार व हंसमुख स्वभाव के संदीप द्वारा खुदकुशी कर लेने की जानकारी मिलते ही उनके जानने वाले एक बारगी तो इस खबर पर यकीन ही नही कर पा रहे हैं। लोगों को विश्वास ही नहीं हो रहा कि जिंदादिल रहने वाला एक सिपाही खुदकुशी जैसा कदम भी उठा सकता हैं। 

    जिस समय संदीप यादव ने आत्महत्या की उस समय पुलिस लाइन में क्राइम मीटिंग चल रही थी। घटना की जानकारी होते ही एसपी समेत अन्य पुलिस अफसर मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने घटना की पड़ताल शुरू कर दी हैं। आखिर संदीप ने आत्महत्या क्यों की ?  वह कौन सी बजह थी जिसके चलते संदीप को खुदकुशी करनी पड़ी। हालांकि पुलिस को घटनास्थल से संदीप का मोबाइल मिला हैं। जिस पर घटना से कुछ क्षण पहले अनुज नाम के एक शख्स की कॉल आई थी जिसके बाद संदीप ने गमछे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 

    सिपाही संदीप यादव पाली थाने में भी काफी समय रहे हैं। यहां उनके जानने वाले कांग्रेस नेता अनुपम दीक्षित के मुताबिक संदीप के खुदकुशी करने की बात पर उन्हें सहसा विश्वास ही नही हो रहा लेकिन सच को झुठलाया भी तो नही जा सकता। जिले के कई अलग अलग थानों में संदीप की पोस्टिंग रही हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक संदीप के परिजनों को घटना की जानकारी दे दी गई हैं।


    शुभम बाजपेई 
    INA न्यूज़ ब्यूरो चीफ 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.